5 लाख से अधिक दीपों से जगमग हुई रामनगरी अयोध्या, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज

Ayodhya: सीएम योगी(CM Yogi) ने इस मौके पर कहा कि अयोध्या(Ayodhya) में आज का उल्लास बताता है कि त्योहार किस प्रकार मनाना चाहिए। प्रदूषण रहित दिवाली और डिजिटल दिवाली(Diwali) का सुंदर उदाहरण यहां सबने देखा।

Avatar Written by: November 13, 2020 8:54 pm
Ayodhya Dipotsav

अयोध्या। शुक्रवार को रामनगरी अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम को जिसने भी देखा उसके मुंह से अद्भुत, अलौकिक, अनिर्वचनीय…कल्पनातीत सौंदर्य जैसे शब्द ही निकले। ये सब अगर संभव हो सका है तो इसका श्रेय उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को जाता है। बता दें कि दीपोत्सव 2020 कार्यक्रम में 05 लाख 84 हजार 572 दीप प्रज्जवलित किए गए। इस मौके पर श्रद्धालु हों या कि सैलानी, सब बिना पलक झुकाए अयोध्या को निहार रहे थे। हर ओर राम, सब में राम। एक तरफ दीपों को जलाया जा रहा था तो वहीं दूसरी तरफ राम नाम का जयघोष लगाया जा रहा था। यह नजारा अपने आप में बेहद अलग है। अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण शुरू होने से बने माहौल के बीच शुक्रवार को सरयू नदी के किनारे 5,84,572 दीपों के बीच ‘राम राम जय राजा राम’ ‘जय सिया राम’ ‘राजा रामचन्द्र की जय’ जयघोष लग रहा था। सीएम योगी के निर्देश पर दीपोत्सव के लिए पूरी अवधपुरी को सजाया गया था। अयोध्या की छोटी गलियों से लेकर मुख्य मार्गों, सभी सरकारी, धार्मिक भवनों को पर तो आकर्षक लाइटिंग की ही गई थी, नगरवासियों ने भी अपने घरों को सजाया-संवारा था।

Ayodhya Dipotsav

दीपोत्सव के अवसर पर नया घाट स्थल पर राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ प्रदेश के कैबिनेट मंत्री भी मौजूद रहे। इसके अलावा नदी किनारे दीप जलाकर सरयू मइया की आरती उतारी। कोविड प्रोटोकॉल के कारण गणमान्य जनों के लिए नया घाट पर अलग-अलग आरती स्थल तैयार किए गए थे। बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जगद्गुरु वासुदेवाचार्य विद्याभास्कर जी महाराज के साथ विधि-विधान से सरयू मइया की आरती भी उतारी, तो राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी, जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह और अनेक साधु-संतों ने अलग-अलग स्थलों से सरयू पूजन किया। विशिष्ट जनों द्वारा आरती के लिए सात मंच तैयार किए गए थे।

Dipotsav Ayodhya saryu

दीपो को जलाने के मामले में यूपी की अयोध्या में शुक्रवार को एक बार फिर इस प्राचीन नगरी को वैश्विक रिकॉर्ड सूची में दर्ज कराया है। बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अयोध्या के प्रति प्रतिबद्धता ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधियों ने उत्तर प्रदेश सरकार के इस ‘भव्य दीपोत्सव’ को देखा-परखा और अंततः एक साथ एक स्थान पर इतनी बड़ी संख्या में दीप प्रज्ज्वलन को नवीन विश्व कीर्तिमान का दर्जा दिया। जैसे ही दीप प्रज्ज्वजल हुआ वैसे ही ‘श्री राम जय राम जय जय राम’ के जाप के साथ एक-एक कर 5,84,572 दीप जलाए गए। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के प्रतिनिधियों द्वारा कीर्तिमान रचने की घोषणा के साथ ही पूरी अयोध्या ‘जय श्री राम’ के उद्घोष से गुंजायमान हो उठी। लाउडस्पीकर के माध्यम से लगातार दीपोत्सव की जानकारी दी जा रही थी, सो नतीजों की घोषणा होते ही जो जहां था, उसने वहीं से ‘जय सिया राम’ का नारा लगाया। इससे पहले विवत वर्ष भी इसी स्थान पर दीप प्रज्ज्वजन का कीर्तिमान रचा गया था।

Ayodhya Dipotsav pic night

सीएम योगी ने इस मौके पर कहा कि अयोध्या में आज का उल्लास बताता है कि त्योहार किस प्रकार मनाना चाहिए। प्रदूषण रहित दिवाली और डिजिटल दिवाली का सुंदर उदाहरण यहां सबने देखा। यह यूनीक है। सबकी सहभागिता से यह त्योहार आज पूरी दुनिया का ध्यान आकर्षित कर रहा है। यह हर भारतवासी का पर्व है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost