बीजेपी पर हमला करते करते गोडसे को ‘सभ्य’ बता गयी शिवसेना, मुश्किल में कांग्रेस!

सामना में जिन्ना का भी ज़िक्र किया गया, “गांधी जी अंग्रेजों के एजेंट थे। गांधी का स्वतंत्रता आंदोलन प्रायोजित था, ऐसा भाजपाई सांसद अनंत कुमार हेगड़े कहते हैं। ऐसा जो कहते हैं, उन्हें पाकिस्तान में व्याप्त अराजकता को देखना चाहिए। वहां बैरिस्टर जिन्ना सुखी और यहां गांधी बदनाम हैं, ऐसा दौर चल रहा है!”

Avatar Written by: February 9, 2020 3:03 pm

नई दिल्ली। शिवसेना की कमान से निकले तीर इन दिनों कांग्रेस को बड़े भारी पड़ रहे हैं। शिवसेना ने आज के सामना में बीजेपी पर हमला करते और गांधी की तारीफ करते करते गोडसे को सभ्य बता डाला। सामना में लिखा गया, “महात्मा गांधी की और कितनी बार हत्या करनेवाले हैं। ये अब हमें ही रोकना होगा।”

Saamna

सामना में लिखा गया कि, गांधी के विचारों से जो सहमत नहीं हैं उन्हें भी अब ये स्वीकार करना होगा कि गांधी की टक्कर का नेता पूरे स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान दूसरा कोई नहीं हुआ। गांधी का स्वतंत्रता आंदोलन में बड़ा योगदान था। यह स्वीकार करना होगा कि नाथूराम गोडसे ने पहले गांधी के चरण स्पर्श किए और बाद में गांधी पर गोलियां चलाईं। गोडसे के प्रेमियों को गांधी पर असभ्य टिप्पणी करते समय गोडसे की सभ्यता भी स्वीकार करनी चाहिए।”

शिवसेना ने बीजेपी सांसद अनन्त कुमार हेगड़े पर हमला करते हुए अपने मुखपत्र सामना में लिखा, “गांधी-नेहरू ने एक आधुनिक हिंदुस्तान का निर्माण किया, उन्हें रोज मारा जाता है। ये भी एक आजादी ही है।  हिंदुस्तान की अवस्था पाकिस्तान जैसी नहीं हुई इसका श्रेय गांधी-नेहरू व पटेल जैसे कांग्रेसी नेताओं को जाता है। उन पर ‘कीचड़ उछालने’ का ‘पाप’ जो लोग कर रहे हैं। ये ‘पाप’ करने की आजादी भी गांधी जी ने ही दिलाई, इतना तो ध्यान रखें।”

Shivsena Party Logo

सामना में जिन्ना का भी ज़िक्र किया गया, “गांधी जी अंग्रेजों के एजेंट थे। गांधी का स्वतंत्रता आंदोलन प्रायोजित था, ऐसा भाजपाई सांसद अनंत कुमार हेगड़े कहते हैं। ऐसा जो कहते हैं, उन्हें पाकिस्तान में व्याप्त अराजकता को देखना चाहिए। वहां बैरिस्टर जिन्ना सुखी और यहां गांधी बदनाम हैं, ऐसा दौर चल रहा है!” शिवसेना के इस बयान ने कांग्रेस की मुश्किल बढ़ा दी है।