राजीव गांधी की जयंती पर कांग्रेस का विज्ञापन, बताया उन्होंने साकार की थी रामराज्य की कल्पना

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की जयंती है। राजीव गांधी की जयंती पर कांग्रेस (Congress) ने बीजेपी (BJP) को राम और राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के मुद्दे पर तगड़ा जवाब देने की कोशिश की है।

Avatar Written by: August 20, 2020 12:23 pm

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की जयंती है। राजीव गांधी की जयंती पर कांग्रेस (Congress) ने बीजेपी (BJP) को राम और राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के मुद्दे पर तगड़ा जवाब देने की कोशिश की है। राजीव गांधी की जयंती के मौके पर कांग्रेस ने विज्ञापन जारी कर रामराज्य की कल्पना को साकार करने वाले चेहरे के तौर पर राजीव गांधी को बताया है। कांग्रेस ने अपने विज्ञापन में 21वीं सदी के आधुनिक भारत के साथ ही अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की नींव रखने वाले कांग्रेस के नेता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को श्रेय दिया है। कांग्रेस ने दावा किया है कि राजीव गांधी के कार्यकाल में ही सबसे पहले राम राज्य की नींव रखी गई थी। राजीव गांधी ने देश वासियों के लिए 21वीं सदी के आधुनिक भारत के निर्माण की कोशिश के साथ ही भारतीयों की आस्था और धार्मिक भावनाओं का सम्मान किया था।

ram mandir rajiv gandhi

कांग्रेस ने जिन बातों का जिक्र किया है, उसमें महात्मा गांधी के रामराज्य की भावना का प्रभाव राजीव पर था और उन्हीं की कोशिशों के कारण 1985 में दूरदर्शन ने रामानंद सागर के रामायण का प्रसारण शुरू किया था। 1986 में यूपी के तत्कालीन मुख्यमंत्री वीर बहादुर सिंह को राम जन्मभूमि स्थल के ताले खोलना पड़े थे। नवंबर 1989 में राम मंदिर के शिलान्यास की अनुमति दी गई थी और तत्कालीन गृहमंत्री बूटा सिंह को शिलान्यास में शामिल होने के लिए भेजा गया था। चेन्नई में राजीव गांधी ने अपनी आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि राम मंदिर अयोध्या में ही बनेगा।

Rajiv Gandhi

साथ ही कांग्रेस पार्टी ने आधुनिक भारत के जनक के तौर पर भी राजीव गांधी को प्रस्तुत किया है। आईटी क्रांति, फोन, कंप्यूटर को गांव-गांव तक पहुंचाने में बड़ा योगदान राजीव गांधी का बताया है। पंचायती राज के जरिए गांव को सशक्त बनाने महिलाओं को 33 फ़ीसदी नेतृत्व का अधिकार देने और युवाओं को 18 की उम्र में वोटिंग का हक देने समेत गांव में नवोदय स्कूल खोलने का श्रेय राजीव गांधी को दिया है।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन में पीएम मोदी के शामिल होने के बाद बीजेपी लगातार श्रेय लेने का काम कर रही है। राम मंदिर निर्माण के साथ ही राम राज्य की स्थापना भी मोदी सरकार में ही मुमकिन होने का दावा किया जा रहा है। यही कारण है कि बीजेपी के राम और राम मंदिर के जवाब में कांग्रेस ने राजीव गांधी को आगे लाते हुए बताने की कोशिश की है कि आधुनिक भारत के साथ राम राज्य की गतिशील यात्रा के कुशल सारथी राजीव गांधी थे।

Congress

राजीव गांधी के जीवन और प्रधानमंत्री रहते हुए लिए गए फैसलों पर जनता को जानकारी देने के लिए कांग्रेस पार्टी अब राजीव गांधी के जीवन पर आधारित किताब का प्रचार करेगी।