एग्जिट पोल के उलट भाजपा इस वजह से कर रही है जीत की उम्मीद?

एक प्राइवेट न्यूज चैनल के रिपोर्टर अंकित गुप्ता इसको लेकर अपने ट्वीट में कहते हैं कि, “वैसे Delhi Exit Polls के आने के बाद एक बात थोड़ी अजीब लग रही है कि जिस आम आदमी पार्टी के पक्ष में सारे नतीजे दिख रहे हैं वो अभी भी खुलकर नहीं बोल पा रही

Avatar Written by: February 10, 2020 1:55 pm

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर तमाम एग्जिट पोल के नतीजे संकेत दे रहे हैं कि दिल्ली में सत्ता की कुर्सी केजरीवाल के पास वापस जा सकती है। इसके बाद भी भारतीय जनता पार्टी को उम्मीद बनी हुई है कि नतीजे एग्जिट पोल के उलट आ सकते हैं। इसके पीछे भाजपा के अपने कारण हैं।

amit shah Delhi election campaign

दरअसल दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी एग्जिट पोल के नतीजों को देखने के बाद ट्विटर पर दावा किया कि, “ये सभी एग्ज़िट पोल होंगे fail..मेरी ये ट्वीट सम्भाल के रखियेगा..भाजपा दिल्ली में ४८ सीट ले कर सरकार बनायेगी.. कृपया EVM को दोष देने का अभी से बहाना ना ढूँढे।”

Manoj Tiwari

इसके अलावा आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ रहे भाजपा प्रत्याशी ,सुनील यादव ने दावा किया है कि, “श्री नरेंद्र मोदी जी,श्री अमित शाह जी,श्री जेपी नड्डा जी एवं संगठन ने मुझपर भरोसा किया इसके लिए उनका आभार।केजरीवाल जी अपना चुनाव हारेंगे व नई दिल्ली में भाजपा की जीत निश्चित है।अगर यह नहीं हो पाया तो मैं कभी चुनाव नहीं लड़ूँगा व जीवनभर केवल संगठन का ही काम करूँगा। भारत माता की जय।”

Sunil Yadav Tweet

भाजपा की उम्मीद की वजह कहीं ये तो नहीं?

फिलहाल एग्जिट पोल भले ही फाइनल नतीजे नहीं होते हो लेकिन वह एक अंदाजा दे देते हैं कि हवा किस ओर बह रही है। लेकिन भाजपा इस संकेत को नकार रही है। बीजेपी समर्थकों की ओर से तर्क दिया जा रहा है कि दिल्ली में अधिकतम मतदान आखिरी तीन से चार घंटे में हुआ है, जो कि आम आदमी पार्टी की हार की पटकथा लिख सकता है।

तर्क ये भी दिया जा रहा है कि एग्जिट पोल में जो आंकड़े सामने आते हैं वो दोपहर 3-4 बजे तक के होते हैं, ऐसे में आखिरी घंटों में जो भी मतदान हुआ है वह एग्जिट पोल के दावों को गलत साबित करने के लिए काफी है।

delhi voting

आखिरी चार घंटे में हुए करीब 30 फीसदी मतदान

सोशल मीडिया पर भाजपा की जीत को लेकर तमाम दावे किये जा रहे हैं। सोशल मीडिया पर फैलाए जा रहे एक संदेश के मुताबिक, बीजेपी एक कैडरबेस पार्टी है जो कि अपने वोटरों को आखिरी वक्त में घर से निकालने में सफल रही और आखिरी चार घंटे में हुए करीब 30 फीसदी मतदान से नतीजों को पूरी तरह से पलट दिया जाएगा।

टीवी पत्रकारों की क्या है राय?

एक प्राइवेट न्यूज चैनल के रिपोर्टर अंकित गुप्ता इसको लेकर अपने ट्वीट में कहते हैं कि, “वैसे Delhi Exit Polls के आने के बाद एक बात थोड़ी अजीब लग रही है कि जिस आम आदमी पार्टी के पक्ष में सारे नतीजे दिख रहे हैं वो अभी भी खुलकर नहीं बोल पा रही और जिस BJP के खिलाफ नतीजे दिख रहे हैं वो अभी भी अपनी जीत के दावे कर रही है। क्या है ये राज़!!

Ankit gupta Tweet

अपने एक दूसरे ट्वीट में अंकित गुप्ता ने लिखा है कि, “दिल्ली में मतदान वाले दिन यानी कल दोपहर चुनाव आयोग ने दोपहर 1 बजे का जो वोटिंग का आंकड़ा जारी किया उसके मुताबिक करीबन 27% लोगों ने मतदान किया था और शाम को आंकड़ा 61% तक पहुंचा यानी शुरुआती 5 घंटों में 27% मतदान और आखिरी 5 घंटों में 34% मतदान। क्या बताता है ये आंकड़ा!!”

sushant Sinha

वहीं एग्जिट पोल पर सवाल खड़ा करते हुए इंडिया टीवी के एंकर सुशांत सिन्हा का कहना  है कि, “एग्जिट पोल्स ने 4बजे तक की वोटिंग पर नतीजों की ‘भविष्यवाणी’ की। 4 बजे के बाद करीब 18-20% वोट और पड़ा। 1% वोट से नतीजे बदल जाते हैं,यहां 18-20% का मामला है।फिर भी एग्जिट पोल की भविष्यवाणी को यूं दिखाते हुए कि मानो नतीजे ही आ गए हों,EVM पर सवाल उठाए जाने लगे हैं।”