Live: विज्ञान भवन में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और किसानों की बैठक जारी

Live: कृषि बिल (New Farm law) के विरोध में किसानों का विराध प्रदर्शन (Farmers Protest) मंगलवार को भी जारी है। आज प्रदर्शन का 6वां दिन है। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर किसान अभी भी डटे हुए हैं। हालांकि आज केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान संगठनों के नेताओं को बातचीत के लिए मंगलवार को बुलाया है।

Avatar Written by: December 1, 2020 9:39 am
meeting2

नई दिल्ली। कृषि बिल (New Farm law) के विरोध में किसानों का विराध प्रदर्शन (Farmers Protest) मंगलवार को भी जारी है। आज प्रदर्शन का 6वां दिन है। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-यूपी-हरियाणा बॉर्डर पर किसान अभी भी डटे हुए हैं। हालांकि आज केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसान संगठनों के नेताओं को बातचीत के लिए मंगलवार को दोपहर 3 बजे बुलाया है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर की तरफ से तीन दिसंबर के बजाय एक दिसंबर को किसान नेताओं को बातचीत के लिए आमंत्रित किया। ये बातचीत दोपहर तीन बजे विज्ञान भवन में शुरु हो रही है। बताया जा रहा है कि ठंड और कोरोना महामारी की कठिनाइयों को देखते हुए सरकार ने किसान संगठनों से जल्दी वार्ता करने का फैसला लिया है।

farmer protest2

अपड़ेट]

किसानों को समर्थन देने सिंधू बॉर्डर पर पहुंची शाहीन बाग की ‘दादी’ को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के साथ किसान नेताओं की बैठक चल रही है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर किसान नेताओं के साथ बैठक करने के लिए विज्ञान भवन पहुंचे।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “हम लोग समाधान करने के लिए चर्चा करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।” साथ ही उन्होंने बताया कि बैठक में सोमप्रकाश, पीयूष गोयल और बाकी अधिकारी बैठक में मौजूद रहेंगे।

किसान नेता विज्ञान भवन पहुंच गए हैं। नरेंद्र सिंह तोमर ने उन्हें बातचीत के लिए बुलाया है।

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने केंद्र पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि देर आए दुरुस्त आए। किसान इस देश का अन्नदाता है। पिछले 1 हफ्ते से किसान सड़कों पर पड़ा है। दिल्ली के चारों तरफ लाखों किसान, मजदूर, माताएं-बहनें और बच्चे बैठे हैं परन्तु अहंकारी मोदी सरकार बात को तैयार नहीं थी, अब कम से कम बातचीत का न्योता तो दिया।

35 किसान नेता सिंघु बॉर्डर से निकल चुके हैं। कुल तीन लोगों के ग्रुप में करीब 35 लोग बातचीत के लिए जाएंगे। बता दें कि सरकार की ओर से किसानों के साथ केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में बातचीत होगी।

दिल्ली के बुराड़ी के निरंकारी समागम ग्राउंड में कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। एक प्रदर्शनकारी ने कहा, “हम स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने की मांग कर रहे थे। लेकिन सरकार ने हमारे ऊपर तीन काले कानून थोप दिए।”

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच पहुंचे।

किसान आंदोलन को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा के घर हो रही बैठक खत्म हो गई है।

गृह मंत्री अमित शाह, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह किसानों के विरोध प्रदर्शन पर बैठक करने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी.नड्डा के आवास पहुंचे।

दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने बैरिकेडिंग को हटाने के लिए ट्रैक्टर का इस्तेमाल किया।

कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर(दिल्ली-हरियाणा) पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है।

किसानों की समस्याओं पर सरकार से बातचीत के लिए आमंत्रण मिलने के बाद किसान संगठन जल्द ही इस पर फैसला लेंगे। इसके लिए पंजाब के किसान संगठनों की बैठक शुरु हो गई है। इसमें सरकार के प्रस्ताव पर विचार-विमर्श होगा।

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा, ”अन्नदाता सड़कों-मैदानों में धरना दे रहे हैं और ‘झूठ’ टीवी पर भाषण! किसान की मेहनत का हम सब पर कर्ज है। ये कर्ज उन्हें न्याय और हक देकर ही उतरेगा, न कि उन्हें दुत्कार कर, लाठियां मारकर और आंसू गैस चलाकर। जागिए, अहंकार की कुर्सी से उतरकर सोचिए और किसान का अधिकार दीजिए।

कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर(दिल्ली-हरियाणा) पर किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। केंद्र सरकार ने आज दोपहर 3 बजे किसानों को बातचीत के लिए बुलाया है।