Hathras Case Update : पीड़िता की मां ने लगाया DM और एसपी पर बड़ा आरोप, कहा- ‘दलित की बेटी है…इसलिए मामले को दबा रहे हैं’

Hathras Case Update : जब बुधवार को स्थानीय सांसद राजवीर सिंह दिलेर(Rajveer Singh Diler) परिवार को सांत्वना देने पहुंचे तो पीड़िता की मां का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने डीएम-एसपी(Hathras DM-SP) पर आरोप लगाए।

Avatar Written by: September 30, 2020 4:32 pm
Hathras Dalit

नई दिल्ली। हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़िता का पुलिस वालों द्वारा अंतिम संस्कार करने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। जहां एक तरफ इस मामले पर शासन-प्रशासन पर आरोप है कि पीड़िता का अंतिम संस्कार परिजनों की मर्जी के खिलाफ कर दिया गया है। तो वहीं हाथरस के डीएम का इस मामले में कहना है कि, “रात को करीब 12:45बजे शव लाया गया, मेरी पिता और बेटे से बात हुई थी और उन्होंने सहमति दी थी कि रात को ही अंतिम संस्कार ​कर दिया जाए। करीब एक से सवा घंटे शव वाहन इनके घर पर खड़ा रहा और जब अंतिम संस्कार किया गया तो परिजन वहां पर उपस्थित थे। करीब 3बजे अंतिम संस्कार किया गया।” इस पूरे मामले में अब पीड़िता की मां की गुस्सा जिम्मेदार अधिकारियों पर फूट गया है। बता दें कि जब बुधवार को स्थानीय सांसद राजवीर सिंह दिलेर परिवार को सांत्वना देने पहुंचे तो पीड़िता की मां का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने डीएम-एसपी पर आरोप लगाए।

UP Police Hathras Last Rites

बुधवार को पीड़िता की मां ने एसपी-डीएम पर आरोप लगाते हुए कहा कि हमें हमारी बच्ची का चेहरा नहीं दिखाया गया। उन्होंने कहा कि डीएम और एसपी साहब आए थे, वो कह रहे हैं कि बेटी की हड्डी नहीं टूटी और उसे चोट नहीं लगी है। ये झूठ बोल रहे हैं और हर मसले पर गलत बयान दे रहे हैं। पीड़िता की मां ने कहा कि क्या अगर उनकी बेटी के साथ ऐसा होगा तो वो बर्दाश्त करेंगे, अब दलित की बेटी है तो फिर इस तरह मामले को दबा रहे हैं।

वहीं स्थानीय सांसद ने कहा कि हम परिवार के साथ हैं। हमें भी यहां पर आने नहीं दिया जा रहा था, क्योंकि मामला गंभीर है। हम परिवार के साथ हैं और दोषियों पर कार्रवाई होगी।

Narendra Modi And Yogi Adityanath

पीएम मोदी ने की सीएम योगी से बात

वहीं इस मामले को लेकर पीएम मोदी ने सीएम योगी से बात कर कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसको लेकर सीएम योगी ने बताया कि “आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने हाथरस की घटना पर वार्ता की है और कहा है कि दोषियों के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाए।

आपको बता दें कि इस मामले को लेकर हाथरस के कुछ इलाकों में तनाव की स्थिति व्याप्त है। यहां कई ग्रामीणों और राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया, दुकानों को जबरन बंद करवाया गया। पुलिस ने बाद में भीड़ पर काबू पाया। देश के अलग-अलग हिस्सों के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी हाथरस की निर्भया के लिए कैंपेन चलाया जा रहा है।

बता दें कि हाथरस के चंदपा थाना क्षेत्र में बूलगढ़ी गांव में 14 सितंबर की सुबह युवती अपनी मां के साथ खेत में चारा काट रही थी। चारा काटते-काटते वह अपनी मां से थोड़ी दूरी पर जा पहुंची। इसी बीच मौके का फायदा उठाकर गांव के ही चार युवक लड़की को उसके दुपट्टे से खींचकर बाजरे के खेत में ले गए। जहां उन चारों ने उसके साथ दरिंदगी को अंजाम दिया। आरोपियों ने लड़की को बुरी तरह पीटा और मरा हुआ समझ कर भाग गए। लड़की की मां अपनी बेटी को ढूंढते हुए वहां पहुंचीं तो घटना का पता चला। लड़की को इलाज के लिए अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। 15 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ने के बाद मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता की मौत हो गई।