Hathras Case: CBI चारों आरोपियों को लेकर पहुंची अहमदाबाद, होगा नार्को टेस्ट

Hathras Case: चंदपा(Chandpa) क्षेत्र के गांव बूलगढ़ी में युवती के साथ हुई घटना के खुलासे के लिए सीबीआई(CBI Team) जांच में सक्रियता के साथ जुटी है। घटना के वक्त छोटू, वारदात स्थल के पास वाले खेत में काम कर रहा था। उसका दावा है कि मौके पर वो सबसे पहले पहुंचा था।

Avatar Written by: November 22, 2020 3:51 pm
Hathras CBI

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में हाथरस के कथित गैंगरेप केस में केंद्रीय जांच एजेंसी चारों आरोपियों का नार्को टेस्ट करेगी। इसको लेकर सीबीआई चारों आरोपियों को जेल से लेकर अहमदाबाद पहुंची है। वहीं हाथरस में हुए कथित गैंगरेप मामले में घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचने का दावा करने वाला छोटू नाम का युवक नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए तैयार था। छोटू का कहना था कि सच सामने लाने के लिए वह किसी भी टेस्ट के लिए तैयार है। लेकिन इसके साथ ही आरोप लगाने वाले (पीड़िता के परिजनों) का भी टेस्ट होना चाहिए। वहीं नार्को टेस्ट को लेकर आरोपियों में से एक युवक की मां ने इस टेस्ट पर आपत्ति जताई है। आरोपी की मां का कहना है कि, उनका बेटा नाबालिग है। बता दें कि चंदपा क्षेत्र के गांव बूलगढ़ी में युवती के साथ हुई घटना के खुलासे के लिए सीबीआई जांच में सक्रियता के साथ जुटी है। घटना के वक्त छोटू, वारदात स्थल के पास वाले खेत में काम कर रहा था। उसका दावा है कि मौके पर वो सबसे पहले पहुंचा था।

CBI Team Hathras pic

बता दें कि छोटू का घर पीड़िता के घर से पास में ही है। यही युवक घटना के तुंरत बाद पीड़िता के भाई को बुलाने के लिए उसके घर आया था। अहम कड़ी होने के चलते छोटू से सीबीआई कई बार सवाल कर चुकी है। युवक के अनुसार सीबीआई उससे 20 से अधिक बार पूछताछ कर चुकी है।

Hathras case

सीबीआई से पूछताछ को लेकर छोटू का कहना है कि, वह सीबीआई की बहुत इज्जत करता है। सच सामने आना चाहिए। उसने कहा कि पीड़ित परिवार के सदस्यों का भी टेस्ट होना चाहिए। फिलहाल नार्को टेस्ट को लेकर इस युवक की मां ने आपत्ति जताते हुए कहा है कि, बेटे ने मौके पर जो देखा वह कई बार बता चुका है। तीन-तीन बार दिन में मेरे बेटे से पूछताछ की जा चुकी है। वहीं, इस युवक के बड़े भाई ने दावा किया कि युवक अभी 18 साल का नहीं हुआ है। हाईस्कूल की मार्कशीट के अनुसार नाबालिग है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost