Connect with us

देश

Pakistan: विदेश मंत्री एस जयशंकर के कायल हुए इमरान खान, शहबाज को दी ये नसीहत, फिर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने दी ये प्रतिक्रिया

Pakistan: दरअसल, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री व पाकिस्तन तहरीक- ए-इंसाफ के सर्वेसर्वा इमरान खान एक बार फिर से भारतीय राजनेता के मुरीद हो गए हैं। इस बार उन्होंने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद की तारीफ की है। इमरान खान उनकी जमकर उनकी तारीफ कर रहे हैं।

Published

on

नई दिल्ली। सत्ता गंवाने के बाद इमरान खान में यह मन परिवर्तन कैसे हो गया कि वे अब हिंदुस्तानी राजनेताओं के नाम तारीफ में कसीदे पढ़े जा रहे हैं। इमरान खान कभी भारत की विदेश नीति के कायल हो जाते हैं, तो कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तो कभी किसी दूसरे मंत्री के। सवाल यह है कि आखिर जिस इमरान खान को भारतीय राजनेताओं की आलोचना किए बिना रोटी हजम नहीं होती थी, आखिर उनके अंदर यह मन परिवर्तन कैसे हो गया कि वे अब हिंदुस्तानी राजनेताओं की तारीफ किए बिना रह नहीं पा रहे हैं। अब आप इतना सबकुछ पढ़ने के बाद मन ही मन सोच रहे होंगे कि शायद अब एक बार फिर से इमरान खान ने किसी हिंदुस्तानी नेता की तारीफ कर दी है, इसलिए ऐसी भूमिका रचाई जा रही है, तो अगर आप भी कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं, तो बिल्कुल सही सोच रहे हैं। दरअसल, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री व पाकिस्तन तहरीक- ए-इंसाफ के सर्वेसर्वा इमरान खान एक बार फिर से भारतीय राजनेता के मुरीद हो गए हैं। इस बार उन्होंने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर की तारीफ की है। इमरान खान उनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। अब यह समझना तनिक मुश्किल है कि वे तारीफ दिल से कर रहे हैं दिमाग से। यह सवाल इसलिए पूछना बनता है, क्योंकि इमरान खान जयशंकर की तारीफ का सहारा लेकर पाकिस्तान की मौजूदा सरकार व प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को भी निशाने पर ले रहे हैं।

जी बिल्कुल…सही पढ़ रहे हैं आप…दरअसल, इस बार भी उन्होंने कुछ ऐसा ही किया है। जहां एक तरफ उन्होंने हिंदुस्तान की स्वतंत्र विदेश नीति को लेकर जयशंकर प्रसाद की तारीफ की है, तो वहीं दूसरी तरफ उन्होंने पाकिस्तान की मौजूदा सरकार को भी सवालों के कठघरे में खड़ा किया है। उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान की विदेश नीति का अंदाजा महज इसी से लगा सकते हैं कि अमेरिका के लाख मना करने के बावजूद भी हिंदुस्तान रूस से तेल खरीद रहा है।

Imran Khan

लेकिन, वहीं पाकिस्तान अमेरिका के दबाव के आगे झुका है और मौजूदा हुकूमत की मजबूरी देखिए कि कोई उनके खिलाफ आवाज तक नहीं उठा पा रहा है। हालात इस कदर संजीदा हो चुके हैं कि हमारी आवाम भारी बेरोजारी और महंगाई के कहर के आगे दम तोड़ती जा रही है, लेकिन इन समस्याओं का निदान करने में मौजूदा सरकार असमर्थ नजर आ रही है। वहीं, भारत की स्थिति हमसे अलहदा नजर आती है। सोचकर ही हैरानी होती है कि भारत और पाकिस्तान एक ही दिन स्वतंत्र राष्ट्र बने थे, लेकिन आज दोनों ही मुल्कों की स्थिति में जमीन आसमान का फर्क है।

jaishankar parsad

इमरान खान विदेश मंत्री एस जयशंकर द्वारा अमेरिका की आलोचना करने के भी कायल हो गए। बता दें कि बीते दिनों जयशंकर ने उन सभी देशों को कड़ी फटकार लगाई थी, जो भारत द्वारा रुस से तेल खरीदने की आलोचना कर रहे थे। इमरान ने ऐसे सभी लोगों को कड़ी हिदायत देकर मुंह बंद कर दिया। हालांकि, यह कोई पहली मर्तबा नहीं है कि इमरान ने भारतीय राजनेताओं के नाम तारीफ में कसीदे पढ़े हैं। इससे पूर्व भी इमरन खान भारत की तारीफ कर चुके हैं। इस बीच पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने भी भारत संग मैत्रिपूर्ण संबंध स्थापित करने की इच्छा जाहिर की है, लेकिन मौजूदा परिदृश्य में इसकी संभावना कहीं से भी नजर आती दिख नहीं रही है। अब ऐसे में दोनों ही देशों के सियासी परिदृश्य क्या रुप धारण करते हैं। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। तब तक के लिए आपे देश दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए आप पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement