DRDO का फैसला, दिल्ली के 10 हजार बेड वाले कोरोना अस्पताल के वार्ड गलवान के शहीदों के नाम पर…

गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैन्‍यकर्मियों को बड़ा सम्मान मिलेगा। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी DRDO ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत दिल्‍ली स्थित सरदार वल्‍लभभाई पटेल कोविड अस्‍पताल के अलग-अलग वॉर्डों के नाम गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैन्‍यकर्मियों के नाम पर रखे जाएंगे।

Written by: July 4, 2020 5:56 pm

नई दिल्ली। गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैन्‍यकर्मियों को बड़ा सम्मान मिलेगा। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी DRDO ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके तहत दिल्‍ली स्थित सरदार वल्‍लभभाई पटेल कोविड अस्‍पताल के अलग-अलग वॉर्डों के नाम गलवान घाटी में शहीद हुए 20 सैन्‍यकर्मियों के नाम पर रखे जाएंगे।

डीआरडीओ ने कहा है कि ये फैसला गलवान के शहीदों को सम्मान देने के लिए किया गया है। डीआरडीओ ने इस अस्पताल के आईसीयू वार्ड का नाम गलवान में शहीद भारत के आर्मी ऑफिसर कर्नल संतोष बाबू के नाम पर रखने का फैसला लिया है।

वहीं इस बारे में डीआरडीओ चेयरमैन के तकनीकी सलाहकार संजीव जोशी ने कहा कि 15 जून को गलवान में भारत के जिन सैनिकों ने शहादत दी थी, उनके सम्मान में सरदार वल्लभभाई पटेल कोविड-19 के अस्पताल के अलग अलग वार्डों का नाम रखा जाएगा।

बता दें कि ये अस्पताल बनकर तैयार है और रविवार को गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इसका उद्घाटन कर सकते हैं। इस अस्पताल में 1000 बेड हैं। यहां पर कोविड के विशेष आईसीयू बने हैं और ये पूर्ण रूप से वातानुकूलित हैं। अस्पताल के आईसीयू और वेंटिलेटर वार्ड को कर्नल संतोष बाबू के नाम पर रखा गया है।