Connect with us

देश

पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी लेने से बचने वाले पाक को भारत ने सुनाई जमकर खरी खोटी

भारत (India) ने पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) की जिम्मेदारी लेने से बचने के लिए पाकिस्तान को एक बार फिर जमकर खरी खोटी सुनाई है।

Published

on

नई दिल्ली। भारत (India) ने पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) की जिम्मेदारी लेने से बचने के लिए पाकिस्तान को एक बार फिर जमकर खरी खोटी सुनाई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) ने गुरुवार को मीडिया को संबोधित करते हुए कई अहम मुद्दों पर सरकार का पक्ष रखा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘पुलवामा हमले की चार्जशीट डेढ़ साल की जांच के बाद दायर की गई थी। इसके तहत आतंकवाद के अधिनियम के अंतर्गत जघन्य अपराध करने वालों अपराधियों को सजा दिलवाना मकसद है। हमारा उद्देश्य केवल बयान या अधिसूचना जारी करना नहीं है।’

Pulwama Attack

उन्होंने कहा, ‘आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा हमले की जिम्मेदारी ली थी, उसके सरगना और मुखिया पाकिस्तान में हैं. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमले का मुख्य अभियुक्त मसूद अजहर को पाकिस्तान में लगातार सुरक्षा मिल रही है, हमने पाकिस्तान के साथ पर्याप्त सबूत साझा किए हैं लेकिन वो अपनी जिम्मेदारियों से भाग रहा है।’ अनुराग श्रीवास्तव ने यह भी कहा, ‘यह भी याद रखना चाहिए कि पाकिस्तान ने 2008 के मुंबई हमलों के अपराधियों के खिलाफ अभी तक कोई विश्वसनीय कार्रवाई नहीं की है।’

anurag srivastava

पाकिस्तान में मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम पर पाकिस्तान के रुख बदलने के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि वह आतंकी संगठनों, प्रतिबंधित लोगों के खिलाफ कभी प्रामाणिक, सत्यापन योग्य कार्रवाई नहीं करता। पाकिस्तान को सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रतिबंधित लोगों पर मुकदमे चलाए जाएं।

dawood

चीन (China)के साथ सीमा विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा, ‘सैनिकों के पूरी तरह से पीछे हटने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के अपनी-अपनी ओर नियमित चौकियों की तरफ भारत, चीन को सैनिकों की पुन: तैनाती किए जाने की आवश्यकता है। हाल में हुई राजनयिक वार्ता में, दोनों पक्ष लंबित मुद्दों को शीघ्रता से हल करने के लिए सहमत हुए।

India China army

वंदे भारत मिशन का छठा चरण एक सितंबर से होगा शुरू 

वहीं विदेश मंत्रालय ने बताया, ‘वंदे भारत मिशन का छठा चरण एक सितंबर से शुरू होने वाला है, विदेश में हमारे मिशनों की मांग के आकलन के आधार पर, एयर इंडिया समूह और प्राइवेट कैरियर द्वारा उड़ानों को पुनर्निर्धारित किया जा रहा है। अगले चरण में विभिन्न देशों के साथ जैविक सुरक्षा की व्यवस्था अनुसूची के अनुसार ही जारी रहेगी।’

Advertisement
Advertisement
Advertisement