Connect with us

देश

Who Wins Kangra Forms Govt In Himachal: कांगड़ा जिले को जीतने वाली पार्टी ही हिमाचल में बनाती रही है सरकार, जानिए कब किसने हासिल की कितनी सीटें

यहां इस बार भी बीजेपी और कांग्रेस ने बाजी मारने के लिए कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखी है। इस जिले में बैजनाथ, देहरा, धर्मशाला, फतेहपुर, इंदौरा, जयसिंह पुर, जसवन-प्रागपुर, जवाली, ज्वालामुखी, कांगड़ा, नगरोटा, नूरपुर, पालमपुर, शाहपुर और सुल्लाह सीटें हैं।

Published

kangra himachal pradesh

शिमला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के आज नतीजे आ रहे हैं। यहां 68 सीटें हैं और सरकार बनाने के लिए 35 सीटों की जरूरत होती है। ऐसे में सबकी नजरें एक ऐसे जिले पर टिक गई हैं, जहां की ज्यादातर सीटें जीतने वाला ही हिमाचल प्रदेश में सरकार बनाता रहा है। ये जिला है कांगड़ा। साल 1998 से ये देखा गया है कि जिसने भी कांगड़ा की ज्यादा सीटें जीतीं, उसी ने हिमाचल में सरकार बनाई। बीजेपी और कांग्रेस ने इस जिले में 9 से लेकर 11 सीटें तक जीती हैं। ऐसे में सभी का ध्यान कांगड़ा जिले पर रहता है। यहां इस बार भी बीजेपी और कांग्रेस ने बाजी मारने के लिए कोई कोर-कसर बाकी नहीं रखी है। इस जिले में बैजनाथ, देहरा, धर्मशाला, फतेहपुर, इंदौरा, जयसिंह पुर, जसवन-प्रागपुर, जवाली, ज्वालामुखी, कांगड़ा, नगरोटा, नूरपुर, पालमपुर, शाहपुर और सुल्लाह सीटें हैं।

bjp congress flag

कांगड़ा जे में 15 सीटें हैं। पहले यहां 16 सीट थीं। साल 2012 में थुरल सीट को पास की सीट में जोड़ दिया गया था। साल 1998 में बीजेपी ने यहां की 10 सीटों पर जीत हासिल की थी। तब कांग्रेस को 5 और निर्दलीय 1 सीट पर जीता था। साल 2003 में कांग्रेस ने कांगड़ा पर फतह का परचम फहराया। उस साल कांग्रेस ने 11 और बीजेपी ने 4 सीटें जीती थीं। तब भी 1 निर्दलीय ने जीत हासिल की थी। साल 2007 के चुनाव में बीजेपी ने कांगड़ा की 9 और कांग्रेस ने 4 सीटें जीतीं। बीएसपी का 1 और 1 निर्दलीय भी जीते थे। साल 2012 में कांगड़ा को कांग्रेस ने जीता। पार्टी ने 10 सीटों पर कब्जा जमाया। तब बीजेपी ने 3 और 2 निर्दलीय भी जीते थे।

shanta kumar bjp

हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम शांता कुमार

पिछले यानी 2017 के विधानसभा चुनाव की बात करें, तो बीजेपी ने कांगड़ा की 15 में से 11 सीटों पर परचम फहराया था। तब कांग्रेस को 4 सीटें मिली थीं। अब आज नतीजे तय करेंगे कि कांगड़ा जिले की कितनी सीटें बीजेपी और कांग्रेस को मिलती हैं। कांगड़ा से 1977 में बीजेपी के शांता कुमार चुनाव जीते थे। वो ही हिमाचल के इस जिले से अकेले सीएम रहे हैं। तबसे अब तक बीजेपी और कांग्रेस ने कभी यहां से जीतने वाले किसी और को सीएम नहीं बनाया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement