मध्य प्रदेश : लॉकडाउन 4.0 के दौरान ग्रीन ज़ोन में शुरू होंगी सभी आर्थिक गतिविधियां

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर रेड जोन में भी लॉकडाउन से कुछ छूट दी जा सकती है।

Written by: May 18, 2020 1:48 pm

नई दिल्ली। आज 18 मई से देशभर में कोरोनावायरस के खतरे को देखते हुए लॉकडाउन 4.0 लगा दिया गया है। लेकिन ज़ोन्स को लेकर हर राज्य सरकार को अपने हिसाब से फैसले लेने हैं। लेकिन चूंकि एक लंबे वक्त से लॉकडाउन लागू है जिसकी वजह से अर्थव्यवथा पर प्रतिकूल प्रभवि पड़ रहा है इसलिए ज्यादातर राज्य सरकारें राहत देने के पक्ष में हैं।

इसी क्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर रेड जोन में भी लॉकडाउन से कुछ छूट दी जा सकती है। संक्रमित क्षेत्रों में आवाजाही पूरी तरह से बंद ही रखी जाएगी। ग्रीन जोन में अधिक से अधिक आर्थिक गतिविधियां शुरू की जाएंगी।

Shivraj Singh Chouhan

शिवराज सिंह ने यह भी बताया कि ग्रीन जोन में सीमित परिवहन शुरू करने की अनुमति दी जा सकती है। ग्रीन जोन में छोटे बाजार भी खोले जा सकते हैं। ऑरेंज जोन में संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर गतिविधियां में वृद्धि की जा सकती है। जिलों में निजी संस्थाओं के कार्यालय 30 प्रतिशत अमले के साथ सुरक्षा के उपायों के साथ खोले जा सकेंगे।

इंदौर और भोपाल जैसे शहरों में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों पर उन्होंने कहा कि पहले पॉजिटिव मामले आ रहे थे और अब वहां निर्धारित इलाकों से ही केस आ रहे हैं। अब जो केस बढ़े हैं उसके पीछे की वजह ये है कि प्रदेश में प्रवासी मजदूर भाई भारी संख्या में आए हैं।

उन्होंने कहा, “बड़ी संख्या में हमारे भाई बाहर से आए हैं और उन्हें रोकना संवेदनहीनता होगी, इसलिए हम उनको आने दे रहे हैं और रख रहे हैं जिस वजह से संख्या बढ़ रही है। लेकिन मध्य प्रदेश में अब रिकवरी रेट भी लगभग 50 प्रतिशत के करीब हो गया है।”

इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि प्रवासी श्रमिकों के लिए प्रतिदिन 1000 बसें राज्य सरकार द्वारा संचालित की जा रही हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि किसी भी प्रवासी श्रमिक को अपने गृह नगर वापस नहीं जाना पड़े। राज्य के सभी प्रवासी श्रमिकों को वापस लाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

Corona Test

शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि कोरोना के मामले आते रहेंगे। कोई दावा नहीं कर सकता कि नया मामला नहीं आएगा लेकिन इलाज हो रहा है और लोग स्वस्थ होकर जा रहे हैं। अब हमें कोरोना के साथ रहना सीखना होगा