एनडीटीवी को कपिल मिश्रा के खिलाफ गलत जानकारी देने के बाद देनी पड़ी सफाई…

कपिल मिश्रा को लेकर एक फेक न्यूज एनडीटीवी की तरफ से प्रसारित किया गया जिसके बाद चैनल को इस पूरे प्रकरण पर सोशल मीडिया पर सफाई देनी पड़ी।

Avatar Written by: March 7, 2020 5:09 pm

नई दिल्ली। दिल्ली में हुई हिंसा के बाद जिस तरह से मीडिया द्वारा लगातार भाजपा नेता कपिल मिश्रा को निशाना बनाया जा रहा था। उसी कड़ी में कपिल मिश्रा को लेकर एक फेक न्यूज एनडीटीवी की तरफ से प्रसारित किया गया जिसके बाद चैनल को इस पूरे प्रकरण पर सोशल मीडिया पर सफाई देनी पड़ी।

Kapil Mishra

दरअसल दिल्ली में हुए दंगों में कुछ मीडिया चैनल झूठे नैरेटिव को आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के नाम पर दंगे दिल्ली में भड़क उठे। वहीं इस पूरे मामले पर मीडिया का एक धड़ा सीधे तौर पर कपिल मिश्रा पर हमलावर हो गया।

बता दें कि 22 फरवरी को जाफराबाद और चांद बाग में रोड बंद किए जाने के खिलाफ सड़क पर उतरे कपिल मिश्रा ने कहा था, “दिल्ली पुलिस तीन दिन में रास्तों को खाली कराए। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे के बाद वापस जाने तक हम यहाँ से शांतिपूर्वक जा रहे हैं, लेकिन अगर तीन दिन में रास्ते खाली नहीं हुए, तो हम फिर सड़कों पर उतरेंगे।” मीडिया उनके इस बयान पर हावी हो गई और कपिल मिश्रा को ‘दंगा भड़काने’ के लिए दोषी ठहराने की कोशिश की।

इसी सब के बीच NDTV ने 6 मार्च को एक वीडियो जारी किया, जिसमें उनके एक रिपोर्टर कपिल मिश्रा के मकान मालिक से बात कर रहे थे। हालांकि आपको बता दें कि एनडीटीवी के जिस कार्यक्रम पर इस वीडियो को दिखाया गया उसे एंकर श्रीनिवासन जैन होस्ट करते हैं।


वीडियो में संजय गुप्ता नाम के एक शख्स से बात की जा रही है, जिसकी पहचान NDTV द्वारा कपिल मिश्रा के मकान मालिक के रूप में की गई है। NDTV यह दावा करता है कि कि वे कपिल मिश्रा के मकान मालिक को ट्रैक करने में कामयाब रहे, जिन्होंने दंगों के लिए कपिल मिश्रा को दोषी ठहराया, जबकि सच्चाई कुछ और थी।


इसके बाद कपिल मिश्रा ने दावा किया कि संजय गुप्ता उनके मकान मालिक नहीं हैं। कपिल मिश्रा ने बताया कि संजय गुप्ता उनके मकान मालिक नहीं थे। उन्होंने तो यहां तक कहा कि संजय गुप्ता कभी भी उनके मकान मालिक नहीं रहे हैं। कपिल मिश्रा ने यही बात अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर भी कही है। उन्होंने दावा किया कि NDTV ने राह चलते किसी शख्स को पकड़ लिया और दावा किया कि कपिल मिश्रा के मकान मालिक हैं।


वैसे देखा जाए तो वीडियो में भी संजय गुप्ता यह दावा नहीं करते हैं कि वह मिश्रा के ‘मकान मालिक’ हैं। गुप्ता जिस तरह से बोल रहे हैं, उससे लगता है कि वह प्रॉपर्टी ब्रोकर हो सकते हैं, मकान मालिक नहीं। इसके साथ ही कपिल मिश्रा ने यह भी दावा किया कि NDTV के एंकर श्रीनिवास जहां पर खड़े हैं, वह जगह भी वो नहीं है, जहां कपिल मिश्रा रहते हैं। हालांकि इसके बाद सीधे तौर पर एनडीटीवी ने इस पूरे मामले पर अपनी सफाई दे दी है।