Connect with us

देश

Raid On PFI: कट्टरपंथी इस्लामी संगठन PFI के राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत अब तक 106 गिरफ्तार, इन राज्यों से सबसे ज्यादा सदस्य दबोचे गए

एनआईए ने ईडी और 11 राज्यों की स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर बुधवार देर रात से पीएफआई के खिलाफ बड़ी छापेमारी शुरू की थी। हर जगह एक साथ छापे मारकर इस कट्टरपंथी संगठन की टेरर फंडिंग और कैंप लगाने के मामलों के सबूत जुटाए जा रहे हैं। छापों में तमाम दस्तावेज बरामद होने की खबर सूत्रों के हवाले से मिली है।

Published

on

popular front of india pfi

नई दिल्ली। टेरर फंडिंग और देशविरोधी गतिविधियों के कैंप लगाने के मामले में कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया PFI के 11 राज्यों में 110 ठिकानों पर राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA, प्रवर्तन निदेशालय ED और स्थानीय पुलिस के छापों में अब तक संगठन के 106 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। गिरफ्तार होने वाले पीएफआई के सबसे ज्यादा नेता और सदस्य केरल से हैं। केरल से इस संगठन के 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दूसरे नंबर पर कर्नाटक और महाराष्ट्र हैं। दोनों जगह से 20-20 पीएफआई नेता और सदस्य पकड़े गए हैं। इसके अलावा तमिलनाडु से 10, असम से 9, यूपी से 8, मध्यप्रदेश से 4, दिल्ली और पुदुचेरी से 3-3 और राजस्थान से 2 लोगों को जांच एजेंसियों ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार लोगों में पीएफआई का राष्ट्रीय अध्यक्ष ओएमएस सलाम और दिल्ली की इकाई का अध्यक्ष परवेज अहमद भी हैं। वहीं, यूपी एटीएस ने लखनऊ के पड़ोसी बाराबंकी जिले के बोरहार गांव से पीएफआई के कोषाध्यक्ष नदीम को पकड़ा है।

nia arrest in pfi terror funding case

बता दें कि एनआईए ने ईडी और 11 राज्यों की स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर बुधवार देर रात से पीएफआई के खिलाफ बड़ी छापेमारी शुरू की थी। हर जगह एक साथ छापे मारकर इस कट्टरपंथी संगठन की टेरर फंडिंग और कैंप लगाने के मामलों के सबूत जुटाए जा रहे हैं। छापों में तमाम दस्तावेज बरामद होने की खबर सूत्रों के हवाले से मिली है। बिहार में कुछ दिन पहले पीएफआई के दो सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद से संगठन के खतरनाक इरादों का पता चला था।

NIA

बिहार से जो दो लोग गिरफ्तार हुए थे, उनके पास से पीएफआई के तमाम देशविरोधी गतिविधियों वाले दस्तावेज भी बरामद किए गए थे। इन दस्तावेजों से पता चला था कि संगठन को बाहर से धन मिलता है। ये संगठन देशविरोधी गतिविधियों के लिए कैंप भी लगाता रहा है। इसके अलावा पीएफआई का इरादा साल 2047 यानी भारत की आजादी की 100वीं सालगिरह तक उसे इस्लामी राष्ट्र बनाने का भी है। इन सनसनीखेज खुलासों के बाद ही केंद्रीय जांच एजेंसियां सक्रिय होकर इस संगठन पर कार्रवाई कर रही हैं। पीएफआई का नाम इससे पहले सीएए विरोधी दिल्ली दंगों में भी आया था।

Advertisement
Advertisement
मनोरंजन6 hours ago

Vijayanand Movie Review: कांतारा की तरह कन्नड़ा इंडस्ट्री की एक और बेहतरीन और जरूर देखी जाने वाली फिल्म “विजयानंद”, पढ़िए विजयानंद मूवी रिव्यू

देश9 hours ago

Delhi News : DCW में नियुक्तियों में भ्रष्टाचार के मामले में स्वाति मालीवाल की बढ़ी मुश्किलें, तीन लोग और शामिल

gujarat assembly election 123
देश10 hours ago

Gujarat Election Final Result : गुजरात चुनाव में कौन किस सीट से जीता, कौन हारा, यहां देखें पूरी लिस्ट

देश11 hours ago

Gujarat Elections Result : ‘चुनाव हारने वाले हार पचा नहीं पाएंगे, जुल्म बढ़ेंगे पर हमें तैयार रहना होगा’ गुजरात जीत के बाद संबोधन में बोले पीएम मोदी

देश13 hours ago

Rampur Bypoll Results: आजम के गढ़ में पहली बार किसी हिंदू प्रत्याशी ने अपने प्रतिद्वंदी को दी मात, हार से बौखलाए आसीम राजा ने कह दी ऐसी बात

Advertisement