NIA

Tejasvi Surya : भारतीय जनता युवा मोर्चा (Bharatiya Janata Yuva Morcha) के नवनियुक्त राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या (Tejashwi Surya) ने रविवार को गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मिलकर बेंगलुरु में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) का परमानेंट डिवीजन खोलने की मांग की है।

ISI को सूचना भेजने के आरोप में एक आदमी को एनआईए (NIA) ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि भारतीय सेना (INDIAN ARMY) से जुड़ी गोपनीय जानाकरियां इसके द्वारा पाकिस्तान (PAKISTAN) की खुफिया एजेंसी ISI को भेजी जा रही थी।

जांच में पाया गया कि सोशल मीडिया(Social Media) पर आईएसआईएस(ISIS) से जुड़ी बातें पढ़ कर हिना बशीर चरमपंथ के रास्ते पर उतर गई। सोशल मीडिया पर ISIS को लेकर चल रही बातों का बशीर पर ऐसा असर हुआ कि चरमपंथ के रास्ता अपनाया।

पुलवामा में हुए आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) प्रमुख मसूद अजहर (Masood Azhar) और उसके भाई अब्दुल रऊफ असगर (Abdul Rauf Asghar) को आरोपी बनाया है।

हाल ही में ये खबरे सुनने को मिल रही हैं कि भारत में आतंकी हमले का खतरा है। ऐसे में राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी एनआईए ने एक बड़ा खुलासा किया है।

स्वप्ना और उसके साथी मामले के प्रकाश में आने और उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने के बाद से फरार थे। एनआईए ने शुक्रवार को मामले को अपने हाथ में ले लिया और आरोपियों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधि (निवारक) अधिनियम के तहत एक प्राथमिकी दर्ज की।

आतंकी बिलाल अहमद पुलवामा में ही अपनी आरा मिल चलाता है, और इसी से वो अपना घर भी चलाता था। फिर बीच में आतंकियों के संपर्क में आया और आतंकी संगठन जैश के लिए वो काम करने लगा।

एनआईए 14 फरवरी 2019 को हुए पुलवामा हमले की जांच कर रही है। जांच के दौरान पहले ही इस मामले में कई आरोपियों को पकड़ा जा चुका है।

अधिकारी ने बताया कि केंद्रीय जांच एजेंसी के अन्वेषण दायरे में विदेश में बैठे एसएफजे के आकाओं के निर्देश और वित्तीय मदद से कट्टरपंथी युवकों द्वारा दिल्ली और पंजाब के विभिन्न हिस्सों में पोस्टर लगाने का मामला भी शामिल है।

हमले के लिए आतंकियों ने हथियार जमा किए, जंगल में रहने का सामान लिया ताकि जंगलों में ये आतंकी अपना ठिकाना बना सके। इस ठिकाने को ये ISIS का इलाका घोषित कर रहे थे और यहीं से आतंकी घटनाओं की योजना बना कर हमले करने का इरादा था।