Connect with us

देश

TV Debate: ओवैसी के नेता बोले -शिवलिंग नहीं फव्वारा है, तो हिंदू पक्ष के वकील ने करारा जवाब देकर बोलती की बंद

TV Debate: इस सवाल का जवाब देते हुए AIMIM प्रवक्ता असीम वकार कहते हैं कि हिंदू धर्म में खुद ये लोग विवाद पैदा कर रहे हैं। हमें खुद नहीं पता कि ये ऐसा क्यों कर रहे हैं। जिसे हिंदू धर्म शिवलिंग कह रहा है उसके अंदर काफी लंबा छेद है।  उसकी गहराई नापने के लिए सिलाई का इस्तेमाल किया।

Published

on

नई दिल्ली। देश में मंदिर और मस्जिद की राजनीति खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। इस वक्त ज्ञानवापी मुद्दा और कुतुबमीनार का मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है। दोनों ही मामलों पर रोजाना सुनवाई हो रही है। मुस्लिम और हिंदू पक्ष एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। इसी कड़ी में आज तक चैनल पर डिबेट हुई जिसमें 26 मई को होने वाले कोर्ट के फैसले को आधार बनाकर दोनों पक्षों की बातों को सामने रखा गया। इस डिबेट को चित्रा त्रिपाठी ने होस्ट किया और गेस्ट के तौर पर बीजेपी प्रवक्ता प्रेम शुक्ला, AIMIM प्रवक्ता असीम वकार, VHP प्रवक्ता संजय शंकर तिवारी, वकील हिन्दू पक्ष विष्णु जैन, एसपी प्रवक्ता नाहिद लारी खान और इतिहासकार दिनेश कपूर को देखा गया। एंकर ने पहला सवाल करते हुए पूछा कि 1991 प्लेस ऑफ वर्शिप एक्ट जिसको आधार बनाकर ज्ञानवापी के मुद्दे को आगे ले जाया जा रहा है वो इस पर लागू ही नहीं होता है।

 AIMIM प्रवक्ता असीम वकार का दावा- फव्वारा है शिवलिंग नहीं

इस सवाल का जवाब देते हुए AIMIM प्रवक्ता असीम वकार कहते हैं कि हिंदू धर्म में खुद ये लोग विवाद पैदा कर रहे हैं। हमें खुद नहीं पता कि ये ऐसा क्यों कर रहे हैं। जिसे हिंदू धर्म शिवलिंग कह रहा है उसके अंदर काफी लंबा छेद है।  उसकी गहराई नापने के लिए सिलाई का इस्तेमाल किया। जो काफी नीचे तक चली गई। ये शिवलिंग नहीं बल्कि फव्वारा है। हिंदू धर्म खुद अपने ही धर्म में विवाद कर रहा है। कुछ संतों ने दावा किया है कि ये शिवलिंग नहीं है बल्कि फव्वारा है। इस बात का मुंहतोड़ जवाब देते हुए हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने कहा कि अगर ये फव्वारा है तो चला कर दिखाएं। क्योंकि वजूखाने की दीवार को हटाने नहीं दिया जा रहा है। हम भी देखना चाहते हैं कि ये वाकई फव्वारा है तो चलता कैसे हैं। उन्होंने कहा कि एक तो हमारे शिवलिंग को खंडित किया। उसमें छेद किया। अब उनको फव्वारा घोषित कर रहे हैं।

फव्वारा है तो चला के दिखाओ- हिंदू पक्ष

विष्णु जैन ने AIMIM प्रवक्ता असीम वकार को चैलेंज करते हुए कहा कि अगर ये वाकई फव्वारा है तो वजूखाने की दीवार को हटाकर जांच करने दी जाए। झूठ आप लोग बोल रहे हैं या हम..ये सामने आ जाएगा। वहीं AIMIM प्रवक्ता असीम वकार ने कहा कि जो जांच कमेटी बैठी है वो निष्पक्ष तरीके से जांच नहीं कर रही है। अगर वो फव्वारा है तो चलेगा भी..लेकिन इसकी जांच के लिए निष्पक्ष लोग लेकर आएं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement