Sonia Gandhi के ‘लोकतंत्र की चिंता’ वाले लेख को ‘पाखंड’ बताते हुए भाजपा ने कह दिया कुछ ऐसा

BJP on Sonia Gandhi: कांग्रेस अध्यक्ष(Congress President) ने लेख में लिखा है कि सरकारी एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए हो रहा है। उन्होंने पुलिस, प्रवर्तन निदेशालय(ED), सीबीआई, एनआईए, नार्कोटिक्स विभाग का नाम लेकर यह आरोप लगाया है।

Avatar Written by: October 26, 2020 3:10 pm
Prakash Javdekar Sonia Gandhi

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए एक अखबार में लेख में कहा है कि, देश में लोकतंत्र को खोखला किया जा रहा है। उन्होंने लोकतंत्र की चिंता करते हुए, मोदी सरकार पर अभिव्यक्ति की आजादी को खत्म करने और सरकारी एजेंसियों द्वारा विपक्ष को दबाने के आरोप भी लगाए हैं। सोनिया गांधी ने हिंदुस्तान टाइम्स में लिखे गए लेख में लिखा है कि अभिव्यक्ति की आजादी पर चोट की जा रही है। जो भी सरकार से असहमति दिखाता है उसे आतंकवाद से जोड़ा जाता है या फिर देश विरोधी करार दे दिया जाता है। सोनिया गांधी ने राष्ट्रवाद और उसपर आए खतरे को भी कथित कहा है। इसको लेकर उन्होंने लिखा है कि मोदी सरकार लोगों को ध्यान असली मुद्दों से भटकाकर राष्ट्रीय सुरक्षा पर आए कथित खतरे की तरफ मोड रही है। वहीं इस लेख को लेकर भाजपा की तरफ से पलटवार किया गया है।

Sonia gandhi

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसको लेकर अपने ट्वीट में लिखा है कि, “सोनिया गांधी का आज का लेख एक पाखंड है। लोकतंत्र पर भाषण देकर, लोकतंत्र से चुने प्रधानमंत्री के, प्रतिमा का दहन करना यही वह पाखंड है। जनता ने उनके बेटे को प्रधानमंत्री की कुर्सी ना देकर एक गरीब, मगर मजबूत और निर्भय नेता को दी – इसका दुःख इसमें झलकता है।”

Prakash Javdekar Tweet

वहीं दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि, “सुप्रीम कोर्ट ने शाहीन बाग आंदोलन को अनुचित ठहराने के बाद भी कांग्रेस उसका समर्थन कर रही है। मोदी सरकार ने वहा लाठी भी नहीं चलाई। आपने रामलीला मैदान में सोये प्रदर्शनकारियों को कैसे पीटा, भूल गये ? लोग नहीं भूले!”

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष ने लेख में लिखा है कि सरकारी एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए हो रहा है। उन्होंने पुलिस, प्रवर्तन निदेशालय(ईडी), सीबीआई, एनआईए, नार्कोटिक्स विभाग का नाम लेकर यह आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सारे विभाग प्रधानमंत्री कार्यालय और गृह मंत्रालय के इशारों पर काम कर रहे हैं।