आरएसएस आरक्षण नीति के खिलाफ है : प्रियंका गांधी

प्रियंका ने कहा, “यूपी सरकार भी आरक्षण नीति का मखौल उड़ाती है और यह भाजपा और आरएसएस का एक डिजाइन है। वे पहले एससी/एसटी कानून को कमजोर बनाते हैं और फिर वे संविधान में दिए गए समानता के सिद्धांत के खिलाफ जाते हैं।”

Avatar Written by: February 10, 2020 5:46 pm

नई दिल्ली। राहुल गांधी के बाद, अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर आरएसएस पर निशाना साधा। शीर्ष अदालत ने कहा था कि प्रमोशन में आरक्षण का दावा करने का कोई मौलिक अधिकार नहीं है और राज्य नियुक्तियों में आरक्षण देने के लिए बाध्य नहीं हैं। प्रियंका गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा, “यह समझें कि भाजपा किस तरह से आरक्षण को खत्म करना चाहती है। पहले आरएसएस आरक्षण नीति के खिलाफ बयान देता है, फिर उत्तराखंड सरकार सुप्रीम कोर्ट से अपील करती है कि आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं है।”

Priyanka Gandhi Vadra
प्रियंका ने कहा, “यूपी सरकार भी आरक्षण नीति का मखौल उड़ाती है और यह भाजपा और आरएसएस का एक डिजाइन है। वे पहले एससी/एसटी कानून को कमजोर बनाते हैं और फिर वे संविधान में दिए गए समानता के सिद्धांत के खिलाफ जाते हैं।”

priyanka gandhi
इससे पहले, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद प्रमोशन में कोटा के मुद्दे पर भाजपा और आरएसएस पर तीखा हमला किया। राहुल ने कहा कि कांग्रेस ऐसा नहीं होने देगी और मोदी सरकार देश के सभी संस्थानों पर हमला कर रही है। उन्होंने कहा कि आरक्षण भाजपा और आरएसएस को नुकसान पहुंचा रहा है और वे विभिन्न माध्यमों से व्यवस्था को खत्म करना चाहते हैं।

Rahul Gandhi Reservation
कांग्रेस नेता ने कहा, “आरक्षण आरएसएस और भाजपा को नुकसान पहुंचा रहा है। वे इसे मिटाना चाहते हैं। हर सुबह जब वे जागते हैं तो उन्हें इससे चिढ़ होती है। आरएसएस/भाजपा जो ख्वाब पाले हुए हैं, हम उसे पूरा होने नहीं देंगे।” उन्होंने कहा, “मुद्दा यह है कि आरएसएस और भाजपा दलितों, आदिवासियों और ओबीसी को आरक्षण देने के विचार के साथ टिके नहीं रह सकते। यह उन्हें परेशान करता है और उन्होंने इसीलिए इसे मिटाने की कोशिश की है।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost