रामनिवास गोयल फिर बने दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष

आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक रामनिवास गोयल सोमवार को सर्वसम्मित से विधानसभा अध्यक्ष चुने गए। गोयल के नाम का प्रस्ताव उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने किया।

Written by: February 24, 2020 6:32 pm

नई दिल्ली।  आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक रामनिवास गोयल सोमवार को सर्वसम्मित से विधानसभा अध्यक्ष चुने गए। गोयल के नाम का प्रस्ताव उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने किया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी विधानसभा अध्यक्ष को उनके आसन तक पहुंचाने गए। यह दूसरा अवसर है जब रामनिवास गोयल को दिल्ली विधानसभा का अध्यक्ष चुना गया है। पिछली केजरीवाल सरकार में भी गोयल ही दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष थे।

ram niwas goelसोमवार को दिल्ली की 7वीं विधानसभा का तीन दिवसीय विशेष सत्र शुरू हुआ। यहां सबसे पहले प्रोटेम स्पीकर द्वारा विधायकों को शपथ दिलाई गई। जामा मस्जिद मटिया महल विधानसभा से छठी बार जीतकर विधायक बने शोएब इकबाल को प्रोटेम स्पीकर चुना गया। शोएब इकबाल कांग्रेस की शीला दीक्षित सरकार में दिल्ली विधानसभा के उपाध्यक्ष रह चुके हैं। मौजूदा विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले उन्होंने कांग्रेस का हाथ छोड़कर आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी।

ram niwal goelसभी विधायकों को सदस्यता ग्रहण करवाने के बाद दोपहर 2 बजे विधानसभा अध्यक्ष के निर्वाचन की प्रक्रिया शुरू हुई। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्पीकर पद के लिए रामनिवास गोयल के नाम का प्रस्ताव रखा। मनीष सिसोदिया द्वारा रखे गए इस प्रस्ताव का अनुमोदन विधायक कुलदीप कुमार, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन, आम आदमी पार्टी विधायक दिनेश मोहनिया, सौरभ भारद्वाज व राघव चड्ढा ने किया।

Delhi Assembly Speaker Ram Niwas Goelइसके बाद प्रोटेम स्पीकर शोएब इकबाल ने रामनिवास गोयल के निर्वाचन को लेकर पक्ष एवं विपक्ष की राय पूछी। सभी सदस्यों ने ध्वनि मत से रामनिवास गोयल के निर्वाचन को अपनी मंजूरी प्रदान की। सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुने जाने के बाद राम निवास गोयल ने कहा, “मैं सभी सदस्यों का आभारी हूं, जिन्होंने उन्हें मुझे इस पद के लिए चुना है, मैं यहां अपने कर्तव्य का निर्वहन करूंगा। मुझे गर्व है कि सरदार विट्ठलभाई पटेल, गोपालकृष्ण गोखले, मदन मोहन मालवीय, मोतीलाल नेहरू जैसी हस्तियों ने दिल्ली विधानसभा के इस भवन को सुशोभित किया है।”

गोयल ने इस अवसर पर महात्मा गांधी का स्मरण करते हुए कहा, “यह हमारे लिए सम्मान का विषय है कि स्वयं महात्मा गांधी दो बार दिल्ली विधानसभा के इस भवन में आए थे।” दिल्ली विधानसभा के उपाध्यक्ष पद के लिए नामांकन मंगलवार तक दाखिल किया जा सकेगा। सूत्रों के अनुसार, आम आदमी पार्टी एक बार फिर से राखी बिड़लान को उपाध्यक्ष बना सकती है। आप की पिछली सरकार में भी राखी ही उपाध्यक्ष थीं।