Connect with us

देश

Pollution By Parali: जहरीली हवा से घुट रहा दिल्ली वालों का दम, पंजाब की AAP सरकार और बीजेपी में आंकड़ों की जंग

जहरीली हवा से दिल्ली वालों का दम घुट रहा है। दिल्ली में हर रोज हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। खेतों में पराली जलने से दिल्ली वालों की जान सांसत में है। इस मामले में आम आदमी पार्टी AAP और पंजाब सरकार मिलकर बीजेपी और हरियाणा पर निशाना साध रहे हैं। बीजेपी और हरियाणा के सीएम ने इस पर पलटवार किया है।

Published

smog in delhi

नई दिल्ली। जहरीली हवा से दिल्ली वालों का दम घुट रहा है। दिल्ली में हर रोज हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। खेतों में पराली जलने से दिल्ली वालों की जान सांसत में है। वहीं, इस मामले में आम आदमी पार्टी AAP और पंजाब सरकार मिलकर बीजेपी और हरियाणा पर निशाना साध रहे हैं। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर और केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने आप और पंजाब सरकार पर पलटवार किया है। बुधवार को भी दोनों के बीच जमकर बयानों और आंकड़ों की जंग हुई। पंजाब की आप सरकार और हरियाणा की सरकार ने एक-दूसरे पर ये आरोप लगाया कि उनके यहां सबसे ज्यादा पराली जल रही है। इस जंग का नजारा आप भी लीजिए।

parali

सबसे पहले बात करते हैं पंजाब की आम आदमी पार्टी सरकार के मुखिया भगवंत मान की। भगवंत मान ने एक वीडियो जारी कर हरियाणा पर प्रदूषण का ठीकरा फोड़ दिया। भगवंत मान आंकड़ों का हवाला देकर बताने लगे कि हरियाणा में किसान जमकर पराली जला रहे हैं। इसी वजह से हवा में प्रदूषण बढ़ रहा है।

भगवंत मान के आरोप लगाने के बाद हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर भी भला कहां पीछे रहने वाले थे। उन्होंने रिमोट सेंसिंग यानी उपग्रह के जरिए मिले आंकड़ों के हवाले से पलटवार करते हुए जवाब दिया। खट्टर ने कहा कि हरियाणा में पिछले साल के मुकाबले 25 फीसदी कम पराली जल रही है। जबकि, पंजाब में पिछले साल के मुकाबले इस बार 20 फीसदी ज्यादा पराली अब तक जली है।

खट्टर ने पंजाब पर निशाना साधा, तो मोदी सरकार के पर्यावरण और वन मंत्री भूपेंद्र यादव ने भी पंजाब सरकार को घेरा। उन्होंने ट्वीट कर बाकायदा आंकड़े दिए कि पंजाब में पिछले साल के मुकाबले इस साल कितनी ज्यादा पराली जलाने की घटनाएं हो रही हैं।

पराली और प्रदूषण पर इस सियासी जंग के बीच दिल्ली और आसपास की हवा हर दिन बेहद जहरीली होती जा रही है। बुधवार को दिल्ली के प्रदूषण में पराली जलाने की हिस्सेदारी बढ़कर 32 फीसदी हो गई। यहां तक कि अरविंद केजरीवाल सरकार के मंत्री गोपाल राय को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिल्ली वालों से अपील करनी पड़ी कि वे जरूरत न होने पर गाड़ी न चलाएं। साथ ही वर्क फ्रॉम होम करने पर भी उन्होंने जोर दिया। हालांकि, दिल्ली सरकार ये नहीं बता रही है कि प्रदूषण से दिल्ली वालों को राहत दिलाने के लिए आखिर वो क्या सटीक उपाय अपनाने जा रही है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement