Connect with us

दुनिया

अमेरिकी सांसद ने भी माना, पीएलए ने भारतीय क्षेत्र को कब्जाने के इरादे से झड़प शुरू की

लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात भारत और चीन की सीना में हिंसक झड़प में पर शीर्ष अमेरिकी सांसद ने भी माना है कि पीएलए ने भारतीय क्षेत्र को कब्जाने के इरादे से झड़प शुरू की। उन्होंने कहा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने भारतीय क्षेत्र पर कब्जा करने के इरादे से झड़प शुरू की।

Published

on

वाशिंगटन। लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात भारत और चीन की सीना में हिंसक झड़प में पर शीर्ष अमेरिकी सांसद ने भी माना है कि पीएलए ने भारतीय क्षेत्र को कब्जाने के इरादे से झड़प शुरू की। उन्होंने कहा है कि ऐसा प्रतीत होता है कि चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय क्षेत्र पर कब्जा करने के इरादे से झड़प शुरू की।

सीनेट में बहुमत के नेता मिच मैकोनेल ने बृहस्पतिवार को विदेश नीति पर सदन में कहा, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि पीएलए ने जमीनी क्षेत्र हड़पने के मकसद से चीन और भारत के बीच 1962 में हुए युद्ध के बाद की सबसे हिंसक झड़प के लिए उकसाया।’’ बता दें कि गलवान घाटी क्षेत्र में सोमवार रात दोनों सेनाओं के बीच हिंसक झड़प में एक कर्नल और 19 अन्य भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गए। चीन के सरकारी मीडिया ने चीनी पक्ष में भी जवानों के हताहत होने की बात स्वीकार की है लेकिन संख्या नहीं बताई।

उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया को इससे अधिक स्पष्ट उदाहरण नहीं मिल सकता है कि चीन अपनी सीमा के भीतर लोगों से क्रूरता कर रहा है और दुनिया के नक्शे को पुन तैयार करके अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को चुनौती दे रहा है और अपने हिसाब से उसे बदलने की कोशिश कर रहा है।’’

वहीं शीर्ष रिपब्लिकन सीनेटर ने कहा कि ‘कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना’ ने कोरोना वायरस महामारी का इस्तेमाल हांगकांग में अपने दमनकारी कदमों को छुपाने और क्षेत्र में अपना नियंत्रण एवं प्रभाव बढ़ाने के लिए किया है। उन्होंने कहा, ‘‘समुद्र में उसने जापान में सेनकाकु द्वीप के निकट कदम आगे बढ़ाए हैं। आसमान में, चीनी विमान विभिन्न समय पर ताइवानी वायुक्षेत्र में घुसे हैं।’’

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement