Connect with us

देश

Maharashtra Mlc Election: राज्यसभा चुनाव के बाद MLC चुनाव में भी बीजेपी ने उद्धव ठाकरे और अघाड़ी गठबंधन को दी पटकनी, किया ये हाल

राज्यसभा चुनाव में बाजी मारने के बाद अब महाराष्ट्र विधान परिषद MLC के चुनाव में भी सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी को तगड़ा झटका देते हुए बीजेपी ने अपने पांचों उम्मीदवारों की जीत दर्ज करा ली। सोमवार को हुई वोटिंग में बीजेपी को कुल 134 वोट मिले। जबकि, विधानसभा में उसके सिर्फ 113 विधायक हैं। इससे पहले राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने कुल 123 वोट हासिल किए थे।

Published

on

uddhav and devendra fadnavis

मुंबई। राज्यसभा चुनाव में बाजी मारने के बाद अब महाराष्ट्र विधान परिषद MLC के चुनाव में भी सत्तारूढ़ महाविकास अघाड़ी को तगड़ा झटका देते हुए बीजेपी ने अपने पांचों उम्मीदवारों की जीत दर्ज करा ली। सोमवार को हुई वोटिंग में बीजेपी को कुल 134 वोट मिले। जबकि, विधानसभा में उसके सिर्फ 113 विधायक हैं। इससे पहले राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने कुल 123 वोट हासिल किए थे। यानी इस बार सत्तारूढ़ गठबंधन में उसने पहले के मुकाबले ज्यादा बड़ी सेंध लगा दी। बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस इस जीत से बहुत खुश नजर आए। वहीं, चुनाव नतीजों ने निश्चित तौर पर सीएम और शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे की चिंता बढ़ा दी होगी।

uddhav

बीजेपी के अलावा सत्तारूढ़ गठबंधन से शिवसेना के सचिन अहीर और अमश्य पड़वी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी NCP के एकनाथ खडसे और रामराजे निंबालकर एमएलसी बने। वहीं, कांग्रेस के 1 उम्मीदवार को जीत मिली। बीजेपी की ओर से मैदान में उतरे श्रीकांत भारतीय, प्रवीण दरेकर, उमा खापरे, प्रसाद लाड और राम शिंदे ने अघाड़ी सरकार को आईना दिखाते हुए जीत दर्ज कर ली। एमएलसी चुनाव से ये भी साफ हो गया कि बीजेपी ने कांग्रेस और शिवसेना के वोटों में सेंध लगाई है। एनसीपी के दोनों प्रत्याशियों को 51 से 6 वोट ज्यादा मिले हैं। जबकि, शिवसेना को 55 में से 52 वोट ही मिले।

महाराष्ट्र में एमएलसी की 10 सीटों के लिए सोमवार सुबह से शाम 4 बजे तक वोटिंग हुई थी। कुल 288 में से 285 विधायकों ने वोट दिया था। शिवसेना विधायक रमेश लातके का निधन हो चुका है और दो विधायक नवाब मलिक और अनिल देशमुख जेल में होने के कारण वोट नहीं दे सके। इस चुनाव में 11 उम्मीदवार थे। अघाड़ी की तरफ से शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने 2-2 उम्मीदवार उतारे थे। इनमें से कांग्रेस का एक उम्मीदवार हार गया। चुने गए सदस्य 8 जुलाई से सदन की सदस्य बनेंगे।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement