Connect with us

देश

Politics: अखिलेश यादव को अब इस पुराने नेता ने दिया झटका, राधामोहन बोले- डॉन मुख्तार के भाई के इशारे पर…

राधामोहन ने अखिलेश पर तमाम आरोप लगाते हुए सपा को अलविदा कहने का एलान किया। राधामोहन ने आरोप लगाया कि अखिलेश अब अपने पुराने लोगों की जगह बाहर से आए नेताओं की बात सुनते हैं और उनकी ही राय पर फैसला लेते हैं।

Published

on

Akhilesh yadav

गाजीपुर। यूपी में बीते दिनों हुए विधानसभा चुनाव में पराजय का सामना करने वाली समाजवादी पार्टी SP के अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए हर रोज नई चुनौती खड़ी हो रही है। एक तरफ सहयोगी दल और चाचा शिवपाल सिंह यादव नाराज हैं। वहीं, अखिलेश के पिता और सपा के पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह के करीबी भी अब साथ छोड़ रहे हैं। खास बात ये है कि जो भी नेता सपा से जा रहा है, वो अखिलेश की नीतियों पर सवाल खड़े कर रहा है। ऐसे ही नेताओं में ताजा नाम गाजीपुर से पार्टी के कद्दावर नेता राधामोहन सिंह का जुड़ा है। राधामोहन को मुलायम सिंह का काफी करीबी माना जाता है। वो सपा के सांसद भी रह चुके हैं।

sp leader radhamohan singh

बुधवार को राधामोहन ने अखिलेश पर तमाम आरोप लगाते हुए सपा को अलविदा कहने का एलान किया। राधामोहन ने आरोप लगाया कि अखिलेश अब अपने पुराने लोगों की जगह बाहर से आए नेताओं की बात सुनते हैं और उनकी ही राय पर फैसला लेते हैं। सपा के पुराने नेता ने कहा कि पार्टी में निष्ठावान लोगों की कोई कद्र नहीं है। राधामोहन ने डॉन मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी का नाम लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पूरी सपा ही अफजाल के हाथ में है। पूर्वांचल से जुड़े सारे फैसले अफजाल के इशारे पर लिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सपा ऐसे लोगों के हाथ में फंसी है, जो सिर्फ अखिलेश की तारीफ करते रहते हैं।

राधामोहन ने कहा कि एक तरफ गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या के बाद सपा बड़ी संजीदगी दिखाती है और विभिन्न मंचों पर आवाज उठाती है, लेकिन जब मेरे भाई का निधन हुआ, तो अखिलेश यादव ने सांत्वना का एक शब्द नहीं कहा। उन्होंने कहा कि सपा किस तरह बदली है, ये इसी से पता चलता है कि जब मेरी मां का निधन हुआ था, तो मुलायम सिंह घर पर आए थे। राधामोहन ने कहा कि सपा में अब पुराने समर्पित नेताओं को पूरी तरह नजरअंदाज किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सपा में 33 साल रहने के बाद उसे छोड़ना पीड़ादायक है, लेकिन मौजूदा हालात में कोई दूसरा रास्ता भी नहीं है।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement