Connect with us

देश

Maharashtra: गुजरात में बीजेपी को मिली रिकॉर्ड तोड़ जीत तो बदले ‘शिवसेना’ के तेवर, मुखपत्र ‘सामना’ में की PM मोदी की तारीफ़ में कही ये बड़ी बात

Maharashtra: जीत के बाद से ही एक ओर जहां भाजपा गदगद है। तो वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस और आप के ऊपर निराशा के घनघोर बादल छा गए हैं। राज्य में भारतीय जनता पार्टी को मिली इस जीत के बाद महाराष्ट्र की पार्टी शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ़ की गई है।

Published

pm modi

नई दिल्ली। गुजरात में एक बार फिर जनता ने ये साफ कर दिया है कि उनका राज्य मोदी प्रिय है और भारतीय जनता पार्टी ही उनकी पसंदीदा पार्टी है। बता दें, राज्य में 1 और 5 तारीख को विधानसभा के लिए चुनाव हुआ था। 182 विधानसभा सीटों पर हुए इस चुनाव की मतगणना 8 तारीख यानी कल हुई थी। जब इस चुनाव के नतीजे सामने आए तो देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस और आप (आम आदमी पार्टी) के परखच्चे उड़ गए।

PM MODI

बीते दिन सामने आए चुनावी नतीजों में भारतीय जनता पार्टी को रिकॉर्ड तोड़ जीत हासिल हुई। इस जीत के बाद से ही एक ओर जहां भाजपा गदगद है। तो वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस और आप के ऊपर निराशा के घनघोर बादल छा गए हैं। राज्य में भारतीय जनता पार्टी को मिली इस जीत के बाद महाराष्ट्र की पार्टी शिवसेना के तेवर बदले-बदले से नजर आ रहे हैं। शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ़ की गई है।

samna

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में न सिर्फ गुजरात में हुई इस जीत के लिए प्रधानमंत्री को वजह बताया बल्कि ये भी कहा कि मोदी गुजरात के गौरव पुरुष हैं। मुखपत्र ‘सामना’ में लिखा गया है ये पहले से पक्का था कि गुजरात में मोदी सरकार की ही जीत होगी। इसे लेकर किसी के मन में कोई संदेह नहीं था। पीएम मोदी ने 15 साल तक राज्य का मुख्यमंत्री रहते हुए कई बड़े काम किए। राज्य को आगे बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए। यही वजह है कि जनता ने भी इस बार के चुनाव में साबित किया कि पीएम मोदी ही इस राज्य के लिए सही हैं। मोरबी पुल हादसा भी मोदी की छाप लोगों के दिल से हटा नहीं पाया क्योंकि मोदी ही गुजरात के गौरव पुरुष हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भाजपा ने लगातार 7वीं बार जीत दर्ज कर सत्ता वापसी की है। इस बार के चुनाव में भाजपा की झोली में 182 में से 156 सीटें जीत आईं। वहीं, कांग्रेस 17 और AAP को सिर्फ 5 सीटों पर ही सिमट गई।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement