कांग्रेस नेता पीएल पुनिया के बिगड़े बोल, पीएम मोदी की तुलना गोडसे से की

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने आजकल अपना पूरा ध्यान छत्तीसगढ़ में केंद्रित कर दिया है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया इन दिनों अपने प्रभार वाले प्रदेश में 12 से 14 फरवरी के बीच आरक्षण को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं।

Written by: February 13, 2020 2:19 pm

नई दिल्ली। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने आजकल अपना पूरा ध्यान छत्तीसगढ़ में केंद्रित कर दिया है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया इन दिनों अपने प्रभार वाले प्रदेश में 12 से 14 फरवरी के बीच आरक्षण को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं।PL PUNIA Chattisgarh Congress

राजधानी रायपुर स्थित कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में अनुसूचित जाति-जनजाति आरक्षण में संशोधन अधिनियम के विषय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पीएल पुनिया ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर एक विवादित बयान दे दिया है।

इस दौरान पुनिया ने कहा कि संशोधित आरक्षण अधिनियम के जरिए भाजपा सरकार देश के आदिवासियों और पिछड़ों के तरक्की करने का अधिकार छीन रही है। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तीखे जुबानी हमले किए।Bhupesh Baghel with PL Punia Congress

पुनिया ने कहा- जब पहली बार प्रधान-मंत्री बने थे, तब संसद में सीढ़ियों पर मत्था टेककर प्रवेश किया था। अब उसी संसद का अपमान करने वाले कानून पास करवा रहे हैं। नाथूराम गोडसे ने भी इसी तरह पहले गांधी जी के पैर छुए फिर उनको गोली मार दी। यह इनकी संस्कृति है। केंद्र सरकार और भाजपा आरक्षण खत्म करना चाहती है।pl punia

भाजपा एसटी एससी और ओबीसी आरक्षण को लेकर कुठाराघात करना चाहती है। भाजपा आरक्षण का खुलकर विरोध कर रही है। फैसले के पैराग्राफ 8 और 12 में भी इसका उल्लेख है। यह कहा गया है कि एसटी-एससी-ओबीसी आरक्षण कोई वैधानिक अधिकार नहीं है। राज्यों का भी वैधानिक उत्तरदायित्व नहीं है। यह सरकार के विवेक पर निर्भर करता है कि वह किसी वर्ग को आरक्षण दे या नहीं दे।Priyanka Gandhi PL Punia

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने बदजुबानी करते हुए कहा कि मोदी भी गोडसे की तरह है। यह लोग जिसका सम्मान करने का दिखावा करते हैं, उसी को खत्म कर देते हैं। गोडसे ने भी गांधी को मारने से पहले उनके चरणों में मथ्था टेका था।

उसी तरह मोदी ने 2014 में संसद में घुसने से पहले सीढ़ियों पर मथ्था टेका था। तब वहां के हालात देखकर दूसरी बार सदन के भीतर संविधान पर माथा टेका था। अब उसकी धज्जियां उड़ा रहे हैं।

जयवीर ने किया पुनिया का समर्थन, कहा- बीजेपी को नाम बदलकर नाथूराम गोडसे कर लेना चाहिए

कांग्रेस पार्टी के नेता जयवीर शेरगिल ने भी अब पीएल पुनिया के बयान का समर्थन किया है। पुनिया के बयान से सहमति जताते हुए शेरगिल ने कहा कि उन्होंने बिल्कुल सही कहा है। शेरगिल ने आगे कहा कि मैंने भी इसी मंच से कहा था कि बीजेपी को अपना नाम बदलकर नाथूराम गोडसे रख देना चाहिए। उन्हें चुनाव आयोग में अर्जी देना चाहिए कि उनकी पार्टी का नाम बदल दे।

जयवीर शेरगिल ने बीजेपी पर हमलावर होते हुए कहा कि 1948 में नाथूराम गोडसे ने गोली चलाई थी और 2020 में इनके सांसद गोली मारो की बात कर रहे हैं।