दिल्ली चुनाव : प्रियंका गांधी के बेटे रेहान वाड्रा ने डाला वोट, कहा लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग लेना काफी अच्छा अनुभव रहा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटे रेहान राजीव वाड्रा के साथ दिल्ली विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

Avatar Written by: February 8, 2020 3:16 pm

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटे रेहान राजीव वाड्रा के साथ दिल्ली विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पहले अपनी मां और पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ मध्य दिल्ली के निर्माण भवन मतदान केंद्र गईं प्रियंका ने अपने परिवार के साथ दक्षिणी दिल्ली के सरदार पटेल विद्यालय पोलिंग बूथ पर अपना वोट डाला।PRIYANKA VADRA ROBERT VADRA REHAN RAJIV VADRAदिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए आज मतदान हो रहा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटे रेहान वाड्रा संग मतदान किया। प्रियंका गांधी के बेटे रेहान वाड्रा ने पहली बार अपने मत का इस्तेमाल किया है। दिल्ली के लोधी स्टेट में बूथ पर वोट देने के बाद रेहान वाड्रा ने कहा कि मैं वोट देकर काफी खुश हूं। मैं चाहता हूं कि दिल्ली दुनिया की बेस्ट सिटी बने। प्रियंका गांधी, रॉबर्ट वाड्रा और उनके बेट रेहान राजीव वाड्रा ने लोधी इस्टेट 114 और 116 पर मतदान किया।


रेहान राजीव वाड्रा ने कहा, ‘लोकतांत्रिक प्रक्रिया में भाग लेना काफी अच्छा अनुभव रहा। सभी को अपने मत के अधिकार का इस्तेमाल करना चाहिए। मेरा मानना है कि सबको पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा हो और छात्रों के लिए इसमें सब्सिडी होनी चाहिए।’


पिछले वर्ष लोकसभा चुनाव के दौरान अपना वोट नहीं डाल सके वाड्रा दंपति के बेटे रेहान ने भी इस बार विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इससे पहले प्रियंका गांधी के भाई और पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी मध्य दिल्ली के औरंगजेब लेन स्थित मतदान केंद्र में अपने मताधिकार का प्रयोग किया।PRIYANKA VADRA ROBERT VADRA REHAN RAJIV VADRA

वर्ष 1998 से 2013 तक दिल्ली की सत्ता पर काबिज रही कांग्रेस इस बार के विधानसभा चुनाव से पुन: वापसी की कोशिश कर रही है। 2015 में 70 विधानसभा सीटों के लिए हुए चुनाव में जहां कांग्रेस पार्टी अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी, वहीं आम आदमी पार्टी (आप) ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए 67 सीटों पर जीत हासिल की थी। बाकी बची तीन सीटों पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का कब्जा रहा था।