Connect with us

देश

निर्दलीय, सपा और बसपा तीनों भाजपा के साथ! उपचुनाव का समीकरण भी हक़ में, मध्यप्रदेश में पलट चुका है ‘गेम’

मध्यप्रदेश में सरकार का समीकरण पलट चुका है। बीजेपी सरकार बनाने के एकदम करीब है। कांग्रेस खेमे में हुई बगावत के साथ ही निर्दलीय विधायक और दूसरी छोटी पार्टियां भी भाजपा के सम्पर्क में हैं।

Published

on

Jyotiraditya Scindia & Kamal Nath

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में सरकार का समीकरण पलट चुका है। बीजेपी सरकार बनाने के एकदम करीब है। कांग्रेस खेमे में हुई बगावत के साथ ही निर्दलीय विधायक और दूसरी छोटी पार्टियां भी भाजपा के सम्पर्क में हैं। ऐसे में मध्यप्रदेश में बीजेपी की सरकार बनना तय माना जा रहा है।

jyotiraditya scindia

संख्या समीकरण बीजेपी के हक़ में है। मध्यप्रदेश की विधानसभा में भाजपा के पास 107 विधायक हैं। सूत्रों के मुताबिक 4 निर्दलीय बीजेपी के सम्पर्क में हैं। इनके बीजेपी के साथ आते ही भाजपा के पक्ष की संख्या 111 हो जाएगी। उपचुनाव की सूरत में भी बीजेपी के लिए फायदेमंद स्थिति है।

kamalnath

मध्यप्रदेश में कांग्रेस विधायकों की छोड़ी 22 सीटों और 2 खाली सीटों को मिलाकर 24 सीटों पर उपचुनाव होना तय हैं। ऐसे में भाजपा को बहुमत के लिए 5 और सीटों की जरूरत होगी। ये कोई मुश्किल चुनौती नही होगी। वहीं, कांग्रेस को निर्दलियों के साथ रहने पर उपचुनाव में 17 और निर्दलियों के पाला बदलने पर 21 सीटें जीतनी होंगी जो लगभग असंभव सी स्थिति है।

kamalnath sindhiya cindia

अहम बात यह भी है कि सपा और बसपा विधायक भी बीजेपी के संपर्क में हैं। भाजपा के पास 107 विधायक हैं। 4 निर्दलीय, 2 बसपा और 1 सपा का विधायक भी साथ आ जाएं तो भाजपा के पक्ष की कुल संख्या 114 हो जाती है। ऐसे में उपचुनाव होने पर भाजपा को बहुमत के लिए सिर्फ 2 और सीटों की जरूरत होगी। यानि हर तरह से मध्यप्रदेश में बीजेपी का पलड़ा भारी है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement