फ्लोर टेस्ट का आदेश होते ही शिवराज सिंह ने लिखा ‘सत्यमेव जयते’, कैलाश विजयवर्गीय बोले काले दिन समाप्त

मध्यप्रदेश में फ्लोर टेस्ट का आदेश होते ही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की प्रतिक्रिया सामने आई है। शिवराज सिंह चौहान ने तुरंत ‘सत्यमेव जयते’ लिखकर सुप्रीम आदेश का स्वागत किया। बीजेपी शुरू से ही फ्लोर टेस्ट की मांग कर रही है। उधर कांग्रेस इस बात पर अड़ी हुई थी कि पहले 22 विधायक बंगलुरू से वापिस लाये जाएं।

Written by: March 19, 2020 7:47 pm

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में फ्लोर टेस्ट का आदेश होते ही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की प्रतिक्रिया सामने आई है। शिवराज सिंह चौहान ने तुरंत ‘सत्यमेव जयते’ लिखकर सुप्रीम आदेश का स्वागत किया। बीजेपी शुरू से ही फ्लोर टेस्ट की मांग कर रही है। उधर कांग्रेस इस बात पर अड़ी हुई थी कि पहले 22 विधायक बंगलुरू से वापिस लाये जाएं।

maharashtra shivraj

दो दिन से चल रही सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने कल शाम 5 बजे तक सरकार को बहुमत साबित करने का वक़्त दिया है। बीजेपी के नेताओं की खुशी वाली प्रतिक्रिया सामने आ रही है। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने सुप्रीम कोर्ट का आदेश आते ही ट्वीट किया-

‘सत्य की जीत। लोकतंत्र की जीत। मध्यप्रदेश के काले दिन समाप्त। बधाई !!!

अब कमलनाथ सरकार को शुक्रवार को बहुमत साबित करना होगा। सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा में शुक्रवार को बहुमत परीक्षण कराने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि फ्लोरटेस्ट की वीडियोग्राफी भी होनी चाहिए। इससे पहले शीर्ष अदालत में सुनवाई  दौरान विधानसभा अध्यक्ष की ओर से दलील रखते हुए अभिषेक मनु सिंघवी ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि अदालत बागी विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लेने के लिए उन्हें दो सप्ताह जितना पर्याप्त समय दे।

Shivraj Singh Chuahan Supreme Court

पर सुनवाई के दौरान जस्टिस चंद्रचूड़ ने कहा कि मध्य प्रदेश में हम जल्द फ्लोर टेस्ट चाह रहे हैं। वहां जोड़-तोड़ को बढ़ावा नहीं मिलना चाहिए। उच्चतम न्यायालय ने यह भी पूछा कि क्या अध्यक्ष बागी विधायकों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मुलाकात कर फैसला ले सकते हैं? अध्यक्ष ने न्यायालय से कहा कि वह ऐसा नहीं कर सकते।