महाराष्ट्र में कांग्रेस कोटे से बनी मंत्री का चौंकाने वाला बयान, शपथ ले ली है, जेब गर्म करना अभी बाकी

महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार गठन के बाद विभागों के बंटवारे में एक महीने के लगभग का समय लग गया।

Written by: January 5, 2020 6:54 pm

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन की सरकार गठन के बाद विभागों के बंटवारे में एक महीने के लगभग का समय लग गया। हालांकि इस एक महीने में शिवसेना को उनके ही मंत्री ने झटका भी दे दिया। महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद से ही मंत्री पद की कलह खुलकर सामने आने लगी।Yashomati Thakur Maharashtra Ministerकोई मंत्री न बनाए जाने से नाराज है तो कोई कैबिनेट मंत्री का पद न मिलने के कारण अपनी नाराजगी जाहिर करता नजर आया। इस इसमें नया नाम अब्दुल सत्तार का भी जुड़ गया। शिवसेना के एकमात्र मुस्लिम मंत्री अब्दुल सत्तार ने शनिवार को अपने राज्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को अपना इस्तीफा भेज दिया।
Yashomati Thakur Maharashtra Minister

वहीं अब महाराष्ट्र में कांग्रेस विधायक और महिला एवं बाल विकास मंत्री यशोमति ठाकुर ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है। एक जनसभा को संबोधित करते हुए यशोमति ठाकुर ने कहा कि पहले हमारी सरकार नहीं थी। अब हमने शपथ ले ली है लेकिन अभी हमें अपनी जेब गर्म करनी हैं।


उन्होंने कहा कि जो लोग विपक्ष में हैं उनकी जेब काफी गहरी है। अगर वे आपके (मतदाताओं) पास आएं और अपनी जेब का कुछ हिस्सा दें तो उसे न मत कहिए। घर आती लक्ष्मी को न कौन कहता है, लेकिन वोट केवल कांग्रेस को दें। दरअसल, एक स्थानीय निकाय के चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने ये बात कही।

महाराष्ट्र सरकार में हुआ विभागों का बंटवारा

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार में विभागों का बंटवारा हुआ है, जिसमें वित्त मंत्रालय डिप्टी सीएम अजित पवार को मिला है। वहीं PWD मंत्री अशोक चव्हाण को बनाया गया है। इसके अलावा एनसीपी के अनिल देशमुख को गृह मंत्री बनाया गया है।

Sonia Gandhi Sharad Pawar Uddhav

इसके अलावा शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे को शहरी विकास मंत्रालय मिला है। वहीं कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट को राजस्व विभाग सौंपा गया है। आइए डालते हैं एक नजर लिस्ट पर कि किसको कौन सा मंत्रालय मिला…

शिवसेना

  • आदित्य ठाकरे – पर्यावरण, पर्यटन
  • एकनाथ शिंदे – नगरविकास (MSRDC)
  • सुभाष देसाई – उद्योग
  • संजय राठोड़ – वन
  • दादा भुसे – कृषि
  • अनिल परब – परिवहन,संसदीय कार्य
  • संदीपान भुमरे – रोजगार हमी (EGS)
  • शंकरराव गडाख – जल संरक्षण
  • उदय सामंत – उच्च व तकनीकी शिक्षा
  • गुलाब राव पाटिल – जलापूर्ति

sonia uddhav sharad

कांग्रेस

  • नितिन राउत – ऊर्जा
  • अशोक चव्हाण – PWD पब्लिक वर्क्स
  • बालासाहेब थोराट – राजस्व
  • वर्षा गायकवाड़ – स्कूली शिक्षा
  • यशोमति ठाकुर – महिला और बाल कल्याण
  • केसी पाडवी – आदिवासी विकास
  • सुनील केदार – डेयरी विकास व पशुसंवर्धन
  • विजय वड्डेटीवार – ओबीसी कल्याण
  • असलम शेख – कपड़ा, बंदरगाह
  • अमित देशमुख – स्वास्थ्य, शिक्षा और संस्कृति

एनसीपी

  • अनिल देशमुख – गृह विभाग
  • अजित पवार – वित्त व नियोजन
  • जयंत पाटिल – जल संसाधन (सिंचाई)
  • छगन भुजबल – फूड और सिविल सप्लाई
  • दिलिप वाल्से पाटिल- एक्साइज एंड लेबर
  • जितेंद्र अवहाद – आवास
  • राजेश तोपे – स्वास्थ्य
  • राजेंद्र शिंगने – खाद्य एवं औषधि प्रशासन
  • धनंजय मुंडे – सामाजिक न्याय

उद्धव ठाकरे सरकार में जिन मंत्रियों को राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त है उन्हीं कौन-कौन से विभाग दिए गए हैं उसकी सूची

शंभूराज देसाई – गृह राज्यमंत्री (ग्रामीण), अब्दुल सत्तार – राजस्व, ग्रामविकास, बच्चू कडू – जल , शालेय शिक्षण, कामगार, सतेज पाटील – गृह राज्यमंत्री (शहर), विश्वजित कदम – कृषी आणि सहकार राज्यमंत्री, राजेंद्र यड्रावकर- आरोग्य, सांस्कृतिक, अन्न औषध प्रशासन राज्यमंत्री, अदिती तटकरे – उद्योग, पर्यटन, क्रीडा राज्यमंत्री, दत्ता भरणे – जलसंधारण, सामान्य प्रशासन, संजय बनसोडे – पर्यावरण, पाणीपुरवठा, सार्वजनिक बांधकाम राज्यमंत्री, प्राजक्त तनपुरे – राज्यमंत्री नगरविकास, उर्जा, उच्च तंत्र शिक्षण

बता दें कि नवंबर में जहां एक ओर उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, वहीं उन्हीं के साथ कांग्रेस के दो विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली थी। पिछले हफ्ते हुए मंत्रिमंडल विस्तार में कांग्रेस के कोटे से और 10 विधायकों को मंत्री बनाया गया था।