चीन और पाकिस्तान पर जमकर बरसे रक्षामंत्री, कहा-देश के स्वाभिमान पर किसी भी तरह की चोट बर्दाश्त नहीं

Hyderabad: तेलंगाना के डुंडीगल स्थित भारतीय वायुसेना अकादमी (IAF ) पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को एयर फोर्स अकादमी में कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड (Combined Graduation Parade at Airforce Academy) का जायज़ा लिया।

Avatar Written by: December 19, 2020 11:04 am

नई दिल्ली। तेलंगाना के डुंडीगल स्थित भारतीय वायुसेना अकादमी (IAF ) पहुंचे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को एयर फोर्स अकादमी में कंबाइंड ग्रेजुएशन परेड (Combined Graduation Parade at Airforce Academy) का जायज़ा लिया। इस दौरान एक तरफ जहां रक्षामंत्री ने IAF के जवानों का हौसला बढ़ाया, तो दूसरी ओर पड़ोसी मुल्क चीन और पाकिस्तान को जमकर खरी खोटी सुनाई। रक्षामंत्री ने कहा कि अब आप जिस संगठन के अंग हैं, उसका एक गौरवशाली इतिहास रहा है। देश की संप्रभुता, एकता और अखंडता की रक्षा के लिए भारतीय वायुसेना ने जरूरत पड़ने पर, दुश्मनों के हौसले पस्त करने वाले शौर्य और पराक्रम का प्रदर्शन किया है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चीन के साथ जारी तनाव को लेकर कहा कि, उत्तरी क्षेत्र में हाल ही में हुए भारत-चीन गतिरोध से आप सभी परिचित हैं। कोविड जैसे संकट के समय में चीन का यह रवैया उस देश की नीयत को दिखाता है। हमने यह दिखा दिया है कि अब यह हमारा भारत कोई कमजोर भारत नहीं है।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि दोनो देशों के बीच सैन्य और कूटनीतिक चैनल के जरिए बातचीत हो रही है। हम संघर्ष नहीं बल्कि शांति चाहते हैं। मगर देश के स्वाभिमान पर किसी भी तरह की चोट हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम किसी भी स्थिति का मुक़ाबला करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि, पश्चिमी सेक्टर में पाकिस्तान से लगती सीमाओं पर आए दिन हमारा पड़ोसी कुछ न कुछ नापाक हरकतें करते रहता है। एक नहीं बल्कि चार युद्धों में मात खाने के बाद भी पाकिस्तान आतंकवाद के जरिए एक प्रॉक्सी वार लड़ रहा है। अब तो भारत आतंकवादियों के ख़िलाफ़ देश के भीतर ही नहीं बल्कि सीमा पार जाकर भी प्रभावी कारवाई कर रहा है। बालाकोट में भारतीय वायुसेना ने आतंकवाद के ख़िलाफ़ प्रभावी कारवाई करके सारी दुनिया को भारतीय सेना की ताक़त और आतंक के ख़िलाफ़ उसके मज़बूत इरादों से परिचित करा दिया।

Support Newsroompost
Support Newsroompost