शिवराज चौथी बार बनेंगे मध्यप्रदेश के सीएम, उपचुनाव में बीजेपी को दिखाना होगा दस का दम

बीजेपी की ओर से तय है कि शिवराज सिंह चौहान ही अगले सीएम बनेंगे। इससे पहले 15 महीने तक सरकार चलाने के बाद कमलनाथ ने इस्तीफा दे दिया। सुप्रीम कोर्ट ने शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने के निर्देश दिए थे। लेकिन कमलनाथ ने पहले ही हार मान ली। अब उपचुनाव में बीजेपी के पास 10 सीटें जीतने की चुनौती होगी।

Written by: March 20, 2020 2:15 pm

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस्तीफे के बाद अब बारी बीजेपी की है। बीजेपी की ओर से तय है कि शिवराज सिंह चौहान ही अगले सीएम बनेंगे। इससे पहले 15 महीने तक सरकार चलाने के बाद कमलनाथ ने इस्तीफा दे दिया। सुप्रीम कोर्ट ने शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने के निर्देश दिए थे। लेकिन कमलनाथ ने पहले ही हार मान ली। अब उपचुनाव में बीजेपी के पास 10 सीटें जीतने की चुनौती होगी।

shivraj singh chouhan
कमलनाथ के इस्तीफे के बाद राज्यपाल मौजूदा स्थिति में सबसे बड़े दल भाजपा से सरकार बनाने का दावा पेश करने को कह सकते हैं। भाजपा इसे स्वीकार कर सरकार बना सकती है। सरकार बनाने के बाद भाजपा को बहुमत साबित करना होगा। बीजेपी को विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से गुजरना होगा।

BJP leader Shivraj Singh Chouhan
शिवराज सिंह का रिकॉर्ड चौथी बार सीएम बनना तय है।उनके पास पौने चार साल सरकार चलाने का मौका है। वे साल 2005 से 2018 तक लगातार 13 साल सीएम रह चुके हैं। इस दौरान उन्होंने तीन बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वे फिर सीएम बनते हैं तो ये मध्यप्रदेश के इतिहास में पहला मौका होगा, जब कोई चौथी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेगा। शिवराज के अलावा अब तक अर्जुन सिंह और श्यामाचरण शुक्ल तीन-तीन बार राज्य के सीएम रहे हैं।

Shivraj Singh Chuahan Supreme Court
अब छह महीने के अंदर 25 सीटों पर उपचुनाव होंगे। विधानसभा में 230 सीटें हैं। दो विधायकों के निधन के बाद पहले से 2 सीटें खाली हैं। सिंधिया समर्थक कांग्रेस के 22 विधायक बागी हो गए थे। स्पीकर ने बताया है कि भाजपा विधायक शरद कोल ने भी इस्तीफा दिया था, जिसे मंजूर किया जा चुका है। इस तरह कुल 25 सीटें अब खाली हैं। इन पर 6 महीने में चुनाव होने हैं। इस उपचुनाव में भाजपा को अपनी सरकार बचाने के लिए कम से कम 10 सीटें जीतनी होंगी।