ओवैसी के मंच से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली लड़की के खिलाफ हुई बड़ी कार्रवाई

अमूल्या लियोना को परप्पाना अग्रहारा की सेंट्रल जेल में रखा जाएगा। इसके साथ ही बेंगलुरू पुलिस ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ फ्रीडम पार्क में आयोजित रैली के आयोजकों को भी नोटिस भेजा है। उन्हें पूछताछ के लिए आज सुबह बुलाया गया।

Written by: February 21, 2020 10:17 am

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के मंच से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोना के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया गया है। कोर्ट ने अमूल्या लियोना को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

amulya leona

अमूल्या लियोना को परप्पाना अग्रहारा की सेंट्रल जेल में रखा जाएगा। इसके साथ ही बेंगलुरू पुलिस ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ फ्रीडम पार्क में आयोजित रैली के आयोजकों को भी नोटिस भेजा है। उन्हें पूछताछ के लिए आज सुबह बुलाया गया।

अमूल्या के बयान की उनके पिता ने भी आलोचना की है। अमूल्या की नारेबाजी पर उसके पिता ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अमूल्या ने जो कहा, उसे बर्दाश्त नहीं करूंगा। अमूल्या के पिता ने कहा कि उनकी बेटी ने एंटी सीएए रैली में जो किया, वह बिल्कुल गलत था। उसने जो कहा वह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने कई बार उनसे कहा कि वे मुसलमानों से न जुड़ें, उसने नहीं सुना। मैंने उसे कई बार भड़काऊ बयान नहीं देने के लिए कहा है लेकिन उसने नहीं सुना।

वहीं, हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अमूल्या लियोना के पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने की निंदा की और पल्ला झाड़ा है। उन्होंने कहा, ‘मैं पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने की घटना की निंदा करता हूं। हमारा इस लड़की से कोई लेना-देना नहीं हैं। हमारे लिए भारत जिंदाबाद था और जिंदाबाद रहेगा।’

Amulya Owaisi Paksitan

बता दें कि सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में आयोजित कार्यक्रम के आयोजकों के चेहरे का रंग उस समय उड़ गया जब कार्यक्रम में शामिल अमूल्या नामक महिला ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए। इस दौरान एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी वहां मौजूद थे।