टिकट कटा तो गुस्से में बोले ‘आप’ विधायक, 21 करोड़ में बेची सीट, कुमार विश्वास बोले- बड़ी लेट पता चली

टिकट कटने से नाराज बदरपुर विधायक एनडी शर्मा ने आप से इस्तीफा दे दिया है। साथ ही पार्टी पर 21 करोड़ रुपये लेकर टिकट बेचने का आरोप लगाया है। इस विवाद में आप के बागी नेता कुमार विश्वास कूद पड़े हैं। उन्होंने तंज कसते हुए शर्मा को लिखा है कि आपको बड़ी लेट पता चली। 

Written by: January 15, 2020 1:25 pm

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की सूची जारी होते ही टिकट कटने से नाराज विधायकों के विरोध भी खुलकर सामने आने लगा है। टिकट कटने से नाराज बदरपुर विधायक एनडी शर्मा ने आप से इस्तीफा दे दिया है। साथ ही पार्टी पर 21 करोड़ रुपये लेकर टिकट बेचने का आरोप लगाया है। इस विवाद में आप के बागी नेता कुमार विश्वास कूद पड़े हैं। उन्होंने तंज कसते हुए शर्मा को लिखा है कि आपको बड़ी लेट पता चली।

आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी। इसमें पार्टी की तरफ से सभी 70 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया गया है। अरविंद केजरीवाल नई दिल्ली सीट से चुनाव लड़ेंगे। वहीं, मनीष सिसोदिया पटपड़गंज सीट से चुनाव लड़ेंगे। तिमारपुर से दिलीप पांडेय को टिकट मिला है। बुराड़ी से संदीप झा, बवाना से जयभगवान, नरेला से शरद चौहान, किराड़ी से ऋतुराज झा, शालीमार बाग से वंदना कुमारी मैदान में होंगे। इसके अलावा द्वारका से कांग्रेस के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा, पालम से भावना गौड़, बादली से अजेश यादव, राजेंद्र नगर से राघव चड्डा को टिकट मिला है।kejriwal sisodiaआम आदमी पार्टी की तरफ से जारी 70 उम्मीदवारों की सूची में 46 उम्मीदवार वह हैं जो पहले से आम आदमी पार्टी के विधायक हैं उनको पूर्ववत रखा गया है। 9 सीटें जो खाली थी उनपर नए भी उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी गई है इनमें वह सीटें हैं जिनमें पार्टी से बगावत करनेवाले बागी नेता थे वहीं साथ में भाजपा और उनके सहयोगी दलों के जीते उम्मीदवारों की सीटों पर भी आप ने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी है। वहीं 15 विधायकों के टिकट पार्टी ने काट दिया है। पिछली बार आम आदमी पार्टी की तरफ से 6 महिलाओं को टिकट दिया गया था लेकिन इस बार यह संख्या बढ़कर 8 हो गई है।

बदरपूर से पार्टी विधायक नारायण दत्त शर्मा ने लिखा कि पार्टी जिसे भू-माफिया कहती थी उसे ही आज टिकट देकर बदरपुर की जनता के साथ धोखा दिया है। मीडिया से बात करते हुए एनडी शर्मा ने कहा कि पार्टी ने जिस नेता को टिकट दिया है, 2015 के चुनाव में उसकी जमानत जब्त हो गई थी। एनडी शर्मा ने कहा कि वह बदरपुर की जनता के साथ खड़े हैं। साथ ही चेतावनी दी कि वह चुनाव मैदान में उतरेंगे।

वहीं कुमार विश्वास ने ये भी लिखा है कि जिन लोगों से हम 2013 में पिटे, हमने संघर्ष किया, 2020 में उन्हें ही बुलाकर टिकट दे दिया।

पहली बार बड़े पैमाने पर दलबदलू नेताओं को टिकट देने के पीछे आम आदमी पार्टी (आप) की दलील है कि सीट पर सुनिश्चित जीत तय करने के लिए यह कदम उठाया गया है। विधायकों क टिकट काटने के बाद पार्टी अपने किसी अनाम चेहरे को टिकट देकर सीट फंसाना नहीं चाहती थी।

टिकट को लेकर आप में बगावत, मौजूदा विधायक ने दिया इस्तीफा

पार्टी की तरफ से सभी 70 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया गया है। इस सूची के जारी होने का साथ ही नेताओं के बगावती सुर भी देखने को मिल रहे हैं।delhi cm arvind kejriwal

 

बता दें कि दिल्ली की बदरपुर विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी के मौजूदा विधायक नरायण दत्त शर्मा(एन डी शर्मा) को जारी हुई उम्मीदवारों की सूची में टिकट नहीं मिला है। इसी के चलते एन डी शर्मा ने अपने बगावती सुर छेड़ दिये हैं। शर्मा ने ना ही सिर्फ विरोध जताया है बल्कि आम आदमी पार्टी पर आरोप भी लगाया है।

ND Sharma

जिस सीट से एन डी शर्मा का टिकट कटा है उस सीट से आम आदमी पार्टी ने राम सिंह नेताजी को अपना उम्मीदवार बनाया है। दो बार के विधायक राम सिंह नेताजी को आप में शामिल किये जाने से एनडी शर्मा नाराज चल रहे थे। इसी नाराजगी के चलते वो दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर धरने पर बैठ गये थे।

इसको लेकर एन डी शर्मा ने कहा, मैंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। हम साफ सुथरी राजनीति के लिए आप में शामिल हुए थे लेकिन अब आप और अन्य पार्टियों के बीच क्या अंतर रह गया है। मैं 94 हजार वोटों के साथ जीता और उन्हें (राम सिंह नेताजी) 17 हजार मत मिले लेकिन उन्हें पार्टी में शामिल किया गया। पार्टी के स्वयंसेवकों की मेहनत को नजरअंदाज कर दिया गया।