भाजपा ने शोएब इकबाल के ‘आप’ में शामिल होने पर उठाए सवाल

Written by: January 10, 2020 3:07 pm

नई दिल्ली।  कांग्रेस के पूर्व विधायक शोएब इकबाल अपने पार्षद बेटे मोहम्मद इकबाल के साथ आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल हो गए हैं, जिस पर भाजपा ने उनपर निशाना साधा है। भाजपा ने जामा मस्जिद चौक पर सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन का एक वीडियो जारी कर मोहम्मद इकबाल पर शरीयत की भाषा बोलने का आरोप लगाया है।

Sambit Patra

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां पार्टी मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मोहम्मद इकबाल जो शोएब इकबाल का बेटा है और कॉउंसलर भी है, उसने सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान अपने भाषण में कहा कि ‘..हम गर्दन कटा लेंगे, लेकिन शरीयत में घुसपैठ बर्दाश्त नहीं करेंगे’।”संबित पात्रा ने सवाल किया कि आखिर यह किस तरह की भाषा है, क्या अब यह देश शरीयत के अनुसार चलेगा?

Sambit Patra

पात्रा ने कहा कि “कांग्रेस नेता शोएब इकबाल और उनके पार्षद बेटे मोहम्मद इकबाल ने कल केजरीवाल से मुलाकात की और ऑप ज्वाइन की है। यह वही शोएब इकबाल हैं, जिन्होंने कांग्रेस में रहते हुए कहा था कि अरविंद केजरीवाल के रहने का स्थान सिर्फ जेल है। जो शोएब इकबाल अरविंद केजरीवाल को जेल में डालना चाहते थे, जिस पर हत्या, डकैती जैसे गंभीर आरोप हैं, उनके बेटे को अरविंद केजरीवाल अपनी पार्टी में क्यों लेते हैं? ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी?”

उल्लेखनीय है कि मटिया महल से पांच बार विधायक रहे कांग्रेस नेता शोएब इकबाल गुरुवार को बेटे मोहम्मद इकबाल के साथ आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि पूरे देश में सीएए को लेकर हिंसा का माहौल बनाया जा रहा है, तो यह कहा जा सकता है कि यह तुष्टिकरण का 20-20 मैंच चल रहा है। आम आदमी पार्टी, कांग्रेस, टीएमसी, असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ये सब मिलकर मुसलमानों को भड़काकर हिंसा और आगजनी का माहौल बनाना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, “आज खुलासा हुआ है कि देश में चाहे आगजनी हो, चाहे हिंदू-मुसलमानों के बीच बंटवारा हो, आप चाहे गर्दन काटने की बात करें, लेकिन ये सब जायज है। केजरीवाल इन्हें अपनी पार्टी में शामिल करेंगे और वोटबैंक की राजनीति करेंगे, ताकि मुस्लिम वोटबैंक को साधा जा सके।”

भाजपा ने सपा मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा, “उप्र विधानसभा में उनके नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चौधरी कहते हैं कि हम जब सत्ता में आएंगे तो जो लोग सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, उन्हें भत्ता देंगे। आप आग लगाओ, गोली चलाओ और पेंशन पाओ, इससे ज्यादा भद्दा कुछ हो सकता है क्या?”