कोरोना : मोदी सरकार ने किया 21 दिन का लॉकडाउन तो संघ ने भी उठाया ये बड़ा कदम

मोहन भागवत ने कहा, “पूर्व में दो-दो साल तक शाखाएं बंद रहीं। फिर भी संघ का काम चलता रहा। शासन-प्रशासन की नीति और सामूहिक अनुशासन का पालन समाज को करना है। सामूहिक अनुशासन का पालन संघ की शिक्षा रही है। इसके हम अभ्यस्थ हैं।”

Written by: March 25, 2020 4:25 pm

नई दिल्ली। देश भर में लागू हुए लॉकडाउन के कारण अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) सार्वजनिक रूप से मैदान या पार्को में शाखाएं नहीं लगाएगा। संघ के कार्यकर्ताओं से अपने घरों या बिल्डिंग में ही प्रार्थना करने को कहा गया है। आरएसएस के शीर्ष नेतृत्व की ओर से जारी निर्देशों में कहा गया है कि संघ इस असाधारण परिस्थिति में भी समाज को जागरूक और व्यक्तित्व निर्माण का काम जारी रखेगी।

Narendra Modi Complete Lockdown1
संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भी बुधवार को वर्ष प्रतिपदा के अवसर पर कार्यकर्ताओं से लॉकडाउन के पालन की अपील की। उन्होंने कहा कि संपूर्ण देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित हुआ है। कोरोना नामक विषाणु को परास्त करने के लिए सरकारी दिशा-निर्देशों और सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करना जरूरी है।

rss chief mohan bhagwat

मोहन भागवत ने कहा, “पूर्व में दो-दो साल तक शाखाएं बंद रहीं। फिर भी संघ का काम चलता रहा। शासन-प्रशासन की नीति और सामूहिक अनुशासन का पालन समाज को करना है। सामूहिक अनुशासन का पालन संघ की शिक्षा रही है। इसके हम अभ्यस्थ हैं।”


संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा, “लॉकडाउन का पालन करके भी अपना काम हो सकता है। अपने घर के अंदर या बिल्डिंग में बहुत छोटे समूह में प्रार्थना कर सकते हैं। इस असाधारण स्थिति में नई शैली अपना सकते हैं। पूरे देश में कोरोना नामक विषाणु को परास्त करने के प्रयास हो रहे हैं। सोशल डिस्टैंसिंग के जरिए ही हम कोरोना नामक विषाणु से बच सकते हैं। इस आपत्ति को परास्त करने के लिए संकल्प लेना होगा। क्योंकि संकल्प में ही शक्ति होती है।”