Connect with us

खेल

FIFA World Cup 2022 : लोहे की दीवार बन गया ये गोलकीपर ! मेसी की 112 kmph की रफ्तार वाली किक भी नहीं बिगाड़ सकी कुछ

Fifa World Cup 2022 : फीफा विश्व कप 2022 के शुरुआती मैच में सऊदी अरब से मिली 1-2 की उलटफेर भरी हार के बाद अर्जेंटीना का अगले दौर में पहुंचना शानदार रहा। यह टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे बड़े उलटफेर में से एक था।

Published

दोहा। फीफा विश्व कप 2022 बड़े उलटफेरों वाला टूर्नामेंट साबित हुआ है। कई अजीबोगरीब मुकाबले जीतने के बाद भी जर्मनी विश्व कप से बाहर हो गया है वहीं स्पेन गिरते-पड़ते हारने के बावजूद भी नॉकआउट में पहुंच गया है। लेकिन इस विश्वकप में कई बार ऐसे भी मौके सामने आए जब दर्शक दौरान हो गए। ऐसा ही एक वाकया अर्जेंटीना और पोलैंड के बीच मुकाबले में बुधवार को हुआ। जब अर्जेंटीना ने दूसरे हाफ में किए गए दो गोल की मदद से बुधवार को फीफा विश्व कप ग्रुप सी मैच में पोलैंड को 2-0 से हराकर राउंड ऑफ 16 यानी प्री-क्वॉर्टर फाइनल के लिए क्वॉलिफाइ किया था। उसके लिए एलेक्सिस मैक एलिस्टर ने 46वें मिनट में और जूलियन अल्वारेज ने 67वें मिनट में गोल दागे। स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी की टीम ग्रुप सी में पहले स्थान पर रही, जिससे वह नॉकआउट दौर में शानिवार को ऑस्ट्रेलिया के सामने होगी जिसने हैरान करते हुए अगले दौर में जगह बनाई।

जब मेसी को मिला पेनल्टी का मौका

आपको बता दें कि फीफा विश्व कप 2022 के शुरुआती मैच में सऊदी अरब से मिली 1-2 की उलटफेर भरी हार के बाद अर्जेंटीना का अगले दौर में पहुंचना शानदार रहा। यह टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे बड़े उलटफेर में से एक था। मैच के दौरान हुई एक घटना की चर्चा हर ओर हो रही है। वह यह कि पोलैंड के गोलकीपर वोजसिएच श्जेस्नी का हाथ गलती से मेसी के चेहरे पर लगा जिससे पेनल्टी दी गई।

गोलकीपर है या लोहे दीवार, 112 kmph की रफ्तार वाली गेंद को फौलाद बन रोका

आपको बता दें कि पोलैंड के गोलकीपर ने 39वें मिनट में मेसी की किक का डाइव करते हुए बचाव किया। तेज तर्रार युवेंटस के गोलकीपर ने अपनी बाईं ओर हवा में गोता लगाकर मेसी की 112 kmph की रफ्तार से लगाई गई किक को दोनों हाथों से रोक लिया। इस मोमेंट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कुछ लोग तो गोलकीपर को दीवार बता रहे हैं तो कुछ पेनल्टी चूकने के लिए मेसी की आलोचना कर रहे हैं। वहीं पोलैंड के गोलकीपर की हर तरफ तारीफ हो रही है।

वहीं अगर आंकड़ों के हिसाब से देखें तो यह गोल दागते ही मेसी के 3 गोल हो जाते और वह गोल्डन बूट की दौड़ में शामिल अन्य कुछ प्लेयर्स के बराबर पहुंच जाते। खैर, मैच के बाद मेसी कहा, ‘अब एक और विश्व कप शुरू होता है। और उम्मीद है कि हम वही करना जारी रखेंगे जो हमने आज किया।’ उन्होंने कहा, ‘मैं निराश हूं कि मैं पेनल्टी चूक गया लेकिन मेरी गलती के बाद टीम ने मजबूत वापसी की।’ इस विश्व कप के दौरान मेसी कुछ खास नहीं कर पाए हैं इसी के उनके फैंस काफी निराश नजर आ रहे हैं।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement