Corona Vaccine: भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट की कोरोना वैक्सीन को लेकर किया गया दावा निकला झूठा, जानिए सच्चाई

Corona Vaccine: अब भारत बायोटेक (Bharat Biotech) और सीरम इंस्टिट्यूट (Serum Institute of India) जिसने अपने कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) के आपात इस्तेमाल की सरकार से मंजूरी मांगी है। इसको लेकर एक न्यूज चैनल की तरफ से दावा किया गया कि सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक के वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के सुझाव को सुरक्षा के मद्देनजर खारिज कर दिया गया है।

Avatar Written by: December 9, 2020 6:37 pm
corona vaccine

नई दिल्ली। कोरोनावायरस का कहर पूरी दुनिया में जारी है। दुनिया के सभी देशों को इस वायरस से बाहर निकलने के लिए सबकी निगाह केवल इसके वैक्सीन पर टिकी है। ब्रिटेन में एक कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है। जिसको लगाने का काम आज से ही शुरू हुआ है। वहीं रूस पहले ही अपने यहां दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे चुका है। हालांकि उसके ट्रायल को लेकर दुनिया के कई देश और WHO संदेह व्यक्त कर रहे हैं। अब ऐसे में सबकी नजर भारत पर टिकी हुई है। भारत के पास दुनिया के सभी देशों से ज्यादा अनुभव टीकों को तैयार करने को लेकर है। ऐसे में भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज जो घोषणा की है वह देश के नागरिकों के लिए खुशखबरी ही है। स्वास्थ्य मंत्रालय की मानें तो भारत में 8 टीके इस समय कोरोनावायरस को लेकर तैयार किए जा रहे हैं। जिसमें से कुछ ट्रायल के एडवांस स्टेज पर हैं तो कई टीके ट्रायल के अन्य फेजों पर काम कर रहे हैं जबकि दो कोरोनावायरस निर्माता कंपनी ने अपने टीके के आपात इस्तेमाल की सरकार से अनुमति मांगी है।

Corona vaccine

अब भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट जिसने अपने कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की सरकार से मंजूरी मांगी है। इसको लेकर एक न्यूज चैनल की तरफ से दावा किया गया कि सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक के वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के सुझाव को सुरक्षा के मद्देनजर खारिज कर दिया गया है।


कोरोना वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की बात को खारिज करने की खबर सामने आने के बाद स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस पर अपनी तरफ से बयान जारी किया। सरकार की तरफ से इस दावे की जो सच्चाई बताई गई उसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे।


स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस खबरिया चैनल के द्वारा दिखाए गए खबर पर स्पष्ट करते हुए कहा कि सीरम इंस्टिट्यूट और भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन प्रयोग को मना करने से संबंधी खबर पूरी तरह से फर्जी है।

भारत में कोरोना के इतने वैक्सीन को लेकर चल रहा है काम

आपको बता दें कि कोरोना के इस कहर के बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने अपने द्वारा तैयार किए गए टीके के इमरजेंसी यूज के लिए आवेदन किया है।

russia corona vaccine

इसके साथ ही आपको यह भी पता होना चाहिए कि भारत में जिन 8 कंपनियों के द्वारा कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार की जा रही है उसमें सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोविशील्ड वैक्सीन, भारत बायोटेक कोवाक्सिन, अहमदाबाद की कैडिला हेल्थकेयर जाइकोव-डी, स्पूतनिक-V वैक्सीन हैदराबाद स्थित डॉ. रेड्डीज लैब, NVX-CoV2373 वैक्सीन इसे नोवावैक्स के साथ मिलकर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया विकसित कर रहा है, Recombinant Protien Antigen हैदराबाद की कंपनी बॉयोलॉजिकल ई लिमिटेड, एमआईटी यूएसए के साथ मिलकर तैयार कर रही है, HGCO 19 वैक्सीन पुणे की कंपनी Genova अमेरिकी कंपनी HDT के साथ मिलकर विकसित कर रही है इसके साथ ही Inactivated rabies vector platform वैक्सीन हैदराबाद की भारत बॉयोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड अमेरिका की थॉमस जैफरसन यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर बना रही है। ऐसे में भारत के लिए यह एक अच्छी खबर है कि कोरोना से जल्द ही भारत को इन वेक्सीन के जरिए निजात मिलने वाली है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost