कांग्रेसी नेता उदित राज ने सैनिकों की जाति को लेकर किया ऐसा ट्वीट कि लोगों ने ट्विटर पर धो डाला

उदित राज ने लिखा कि, “जो लोग सत्ता पाने के लिये गुजरात में नरसंहार करवा सकते हैं, वो सत्ता बनाये रखने के लिये 40 जवानों की जान का सौदा भी कर सकते हैं। इनके लिये देशभक्ति और राष्ट्रवाद जनता को भरमाने का एक टूल भर है।”

Written by: February 15, 2020 11:46 am

नई दिल्ली। भाजपा से कांग्रेस में शामिल हो चुके उदित राज ने पुलवामा हमले को एक ऐसा ट्वीट किया है जिससे ट्वीटर पर बवाल मचा हुआ है। बता दें कि उन्होंने कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, राहुल जी ने सही कहा है,  ‘2024 से पहले एक बार फिर पुलवामा हमला हो सकता है।’

Udit Raj & Rahul Gandhi

दरअसल राहुल गांधी ने 14 फरवरी को ट्वीट करते हुए लिखा था कि, ‘आज जब हम पुलवामा के चालीस शहीदों को याद कर रहे हैं, तब हमें पूछना चाहिए कि पुलवामा आतंकी हमले से किसे सबसे ज्यादा फायदा हुआ?  पुलवामा आतंकी हमले को लेकर हुई जांच से क्या निकला? सुरक्षा में चूक के लिए मोदी सरकार में किसकी जवाबदेही तय हुई?’

Rahul Tweet

इसी बयान को उदित राज ने सही ठहराते हुए कहा कि, ‘2024 से पहले एक और पुलवामा अटैक हो सकता है। ऐसे में राहुल गांधी द्वारा पूछे सवाल बिल्कुल सही हैं। पुलवामा हमले की अच्छे से जांच होनी चाहिए।’ एक और ट्वीट में उदित राज ने लिखा कि, “जो लोग सत्ता पाने के लिये गुजरात में नरसंहार करवा सकते हैं, वो सत्ता बनाये रखने के लिये 40 जवानों की जान का सौदा भी कर सकते हैं। इनके लिये देशभक्ति और राष्ट्रवाद जनता को भरमाने का एक टूल भर है।”

Udit Raj Satta

शहीद होने वाले सैनिकों की जाति को लेकर किया ऐसी ट्वीट

उदित राज ने अपने एक दूसरे ट्वीट में जातिवाद से प्रेरित होकर लिखा कि, “सोशल मीडिया पर राष्ट्रवाद का प्रचार करने वाले लोग अक्सर उच्च जाति के होते हैं और जिन सैनिकों ने मुख्य रूप से हमले में अपनी जान गंवाई वे SC/ST/OBC समुदायों से आते हैं। हाशिए पर खड़े समुदायों को सत्ताधारी सवर्णों की देशभक्ति की कीमत चुकानी पड़ती है।”

udit raj social media

मिले ऐसे रिप्लाई

उनके इस ट्वीट पर लोगों की काफी नाराजगी देखी गई। लोगों ने उदित राज को इस ट्वीट पर खूब खरी-खोटी सुनाई। महेश अग्रवाल ने उदित राज को मानसिक रोगी कह दिया। सौम्या ने लिखा कि, अब देशभक्ति भी जातिगत हो गयी क्या..??