वायरल चेक

Fact Check: वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के ऑनलाइन कार्यक्रम में पीएम मोदी के भाषण से जुड़े इस पूरे विवाद को समझने के लिए घटनाक्रम को जानना महत्वपूर्ण है। WEF के ऑनलाइन सत्र में दिया गया पीएम मोदी का ये भाषण नरेंद्र मोदी, डीडी न्यूज़ और WEF के आधिकारिक यू-ट्यूब चैनल पर मौजूद है। यहां गौर करने वाली बात ये है कि WEF और DD के उलट प्रधानमंत्री के नरेंद्र मोदी यू ट्यूब चैनल में ये टेकनिकल ग्लिच शामिल नहीं है।

UP Election 2022: इसी बीच अब अपर्णा यादव के भाजपा अपर्णा यादव के बाद अखिलेश यादव को एक और झटका लग सकता है। दरअसल ऐसा दावा भाजपा ने किया है कि अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) भी पार्टी के संपर्क में हैं। यूपी बीजेपी नेता लक्ष्मीकांत बाजपेई ने ये दावा किया है। उनके इस दावे के बाद यूपी की सियासत में खलबली सी मच गई है।

UP Election: सोशल मीडिया पर एक पोस्टर वायरल हो रहा है जिसमें ये लिखा गया है कि जो भी पत्रकार समाजवादी पार्टी प्रमुछ अखिलेश यादव के लिए चुनाव प्रचार करेंगे उन पत्रकारों को सपा सरकार 2 BHK फ्लैट देगी। ये पोस्टर सोशल मीडिया पर काफी छाया हुआ है।

Fact Check: हालांकि, जब इस तस्वीर की पड़ताल की गई तो गूगल पर यही तस्वीर हमें नजर आ गई लेकिन फर्क बस इतना था कि फातिमा सना की जगह किरण राव नजर आई। इस तस्वीर से ये साफ हो गया कि जो तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है उसमें किरण की जगह फातिमा का चेहरा लगा दिया गया है।

Kashi Vishwanath corridor: वहां मौजूद विनय शास्त्री ने भी एक नीजी चैनल को बताया कि साल 2018 दिसंबर से ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस सुगम सेवा का शुभारंभ किया था। जिसमें तीर्थयात्री को कई सुविधाएं दी जाती है। 300 रुपये के टिकट की वजह से उन्हें लाइनों में खड़ें होने की जरूरत नहीं होती।

Kashi Vishwanath Corridor: अखिलेश यादव ने दावा किया है कि वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की नींव सपा सरकार ने रखी थी। उन्होंने यहां तक कहा कि अगर जरूरी होगा तो वह इससे संबंधित दस्तावेज भी पेश कर सकते हैं।

Flag on Betul BJP Office: : दरअसल, सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हुई, जिसमें मध्य प्रदेश के बेतुल स्थित बीजेपी दफ्तर के बाहर पाकिस्तान का झंड़ा दिखा। जिसे देख कर पार्टी से जुड़े लोगों  ने इसका विरोध किया। इस हरकत को पार्टी को बदनाम करने की साजिश बताया गया है।

Fact Check: दरअसल, अभी हाल ही में सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे ट्वीट में बताया गया है कि तमिलनाडु के एक सरकारी स्कूल में एक छात्र को एक ईसाई शिक्षक ने महज इसलिए बेरहमी से पीटा, क्योंकि उसने रूद्राक्ष पहन रखा था।

पुलिस ने जम्मू कश्मीर में रहने वाले गैर कश्मीरी लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की है। जम्मू कश्मीर पुलिस की तरफ से कहा गया हैकि सभी गैर कश्मीरी लोगों को सैन्य या फिर पुलिस ठिकानों पर सुरक्षित रखा जाये।