Connect with us

देश

Divya Kakran: पहलवान दिव्या ने खोली दिल्ली सरकार की पोल!, यूपी-हरियाणा सरकार की तारीफ करते हुए केजरीवाल को सुनाई खरी-खरी

Divya Kakran: उन्होंने केजरीवाल सरकार की पोल खोलते हुए बताया कि, ”मैं इतने लंबे समय से कुश्ती लड़ रही हूं। 2017 तक मैंने दिल्ली को 58 पदक दिए। मेरे पास यात्रा के लिए पैसे नहीं हुआ करते थे,मैं अखाड़े जाती थी तो रास्ते में घंटों जाम लगा रहता था। दिल्ली सरकार ने कभी हमारी मदद नहीं की।”

Published

नई दिल्ली। कॉमनवेल्थ गेम्स (Common Wealth Games 2022) में भारत का मान बढ़ाने वाली महिला पहलवान दिव्या काकरान (Divya Kakran) कुछ दिनों से सुर्खियों में छाई हुई हैं। लेकिन वो में अपने खेल की वजह से नहीं, बल्कि दिल्ली सरकार के साथ कुश्ती करने की वजह से चर्चा है। बीते कई दिनों से एथलीट दिव्या काकरान ट्वीट के जरिए केजरीवाल सरकार पर निशाना साध रही है। वहीं आप सरकार अपने बचाव में दिव्या को जवाब देने से पीछे नहीं हट रही है। पहलवान काकरान और दिल्ली की केजरीवाल के बीच जुबानी जंग तेज होती जा रही  है। दिव्या काकरान ने केजरीवाल सरकार पर खिलाड़ियों को मदद नहीं पहुचाने का आरोप लगाया था। इसी बीच आज एक बार फिर से मीडिया से मुखातिब होते दिव्या ने केजरीवाल सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। इसके साथ ही उन्होंने उत्तर प्रदेश और हरियाणा सरकार की तारीफ की है।

कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जितने वाली भारतीय पहलवान दिव्या काकरान ने मीडिया से बात करते हुए कहा, उत्तर प्रदेश सरकार ने मेरी मदद की, यहां तक कि हरियाणा सरकार ने भी। लेकिन दिल्ली सरकार कभी मदद के लिए नहीं आई। आगे उन्होंने केजरीवाल सरकार की पोल खोलते हुए बताया कि, ”मैं इतने लंबे समय से कुश्ती लड़ रही हूं। 2017 तक मैंने दिल्ली को 58 पदक दिए। मेरे पास यात्रा के लिए पैसे नहीं हुआ करते थे,मैं अखाड़े जाती थी तो रास्ते में घंटों जाम लगा रहता था। दिल्ली सरकार ने कभी हमारी मदद नहीं की।”

यूपी सरकार की प्रशंसा करते हुए एथलीट काकरान ने कहा कि, ”मैंने अपनी प्रैक्टीस बेहद गरीबी में की है। मैंने 2018 में यूपी से लड़ना शुरू किया था। 2019 में यूपी सरकार ने मुझे रानी लक्ष्मी बाई पुरस्कार दिया। 2020 में उन्होंने मुझे आजीवन पेंशन दी।”

इससे पहले दिव्या काकरान ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए लिखा था कि, ”मेडल की बधाई देने पर दिल्ली के माननीय मुख्यमंत्री जी को तहे दिल से धन्यवाद मेरा आपसे एक निवेदन है कि मैं पिछले 20 साल से दिल्ली मे रह रही हूं और यही अपने खेल कुश्ती का अभ्यास कर रही हूं परंतु अब तक मुझे राज्य सरकार से किसी तरह की कोई इनाम राशि नहीं दी गई न कोई मदद दी गई।”

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement