दिल्ली चुनाव 2020

खास बात यह है कि आप के अमानतुल्लाह खान ने 100726 वोट हासिल कर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया है। 8 फरवरी को हुए मतदान में इस सीट पर कुल 197170 वोट पड़े।

भाजपा के सांसद गौतम गंभीर ने इस बात को स्वीकार किया है कि, भाजपा दिल्ली के वोटरों को ठीक तरीके से समझा नहीं पाई, जिसका नतीजा है कि वो चुनाव में बहुमत से दूर रह गए।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दावा किया है कि वे दिल्ली में 48 सीटें जीत रहे हैं। उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल कई बार फेल होते हैं। ऐसा पंजाब में भी हो चुका है।

सामान्य वर्ग के वोट की बात करें तो, आजतक ऐक्सिस माए इंडिया के एग्जिट पोल के हिसाब से 50 फीसदी लोगों ने आम आदमी पार्टी पर, और 45 फीसदी लोगों ने भाजपा पर विश्वास जताया है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए शनिवार को मतदान होगा और नतीजे 11 फरवरी को घोषित होंगे। बिजली और पानी मुफ्त करने का दांव चलकर जहां पहले आम आदमी पार्टी ने मुकाबला एकतरफा करने की कोशिश की थी, मगर जिस तरह से भाजपा ने कारपेट बॉम्बिंग करते हुए पूरी ताकत झोंक दी, उससे अब चुनाव रोचक हो गया है। लोग आम आदमी पार्टी और भाजपा की जीत-हार को लेकर अटकलें लगाने में जुटे हैं।

दिल्ली की 70 सदस्यीय विधानसभा के लिए मतदान शनिवार को होगा। इन सीटों पर करीब 668 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, जिनके भविष्य का फैसला शनिवार को वोटिंग मशीन में कैद हो जाएगी।

याचिका में कहा गया, कॉलम 10 में दिए गए शपथपत्र में, उत्तरदाता नंबर 4 द्वारा कहा गया है कि उनकी अधिकतम शिक्षा योग्यता नेशनल स्कूल ऑफ ओपेन स्कूलिंग से (2003) से 10वीं पास है।

दिल्ली चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया। भाजपा के बाद आम आदमी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में कई ऐलान किए हैं। केजरीवाल ने गारंटी कार्ड के अलावा 28 वादे किए हैं।

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली में विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को पार्टी का घोषणा पत्र जारी करेंगे। घोषणापत्र में महिला सुरक्षा और वायु गुणवत्ता पर नियंत्रण के साथ-साथ अन्य मुद्दे शामिल होंगे। एक आप नेता ने बताया कि घोषणापत्र में आम आदमी के मुद्दों पर फोकस किया जाएगा।